image

अखिल भारतीय कांग्रेस कोर कमेटी सदस्य, राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी व विधायक रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की पहचान दो ही शब्दों से होती है एक मंदी और दूसरी तालाबंदी। भाजपा को अहम और वहम के नशे में इतनी अंधी हो चुकी है कि आज वो समाज के हर हिस्से को बांटने का काम कर रही है। सुरजेवाला आज पवन वाटिका में कार्यकर्ता सम्क्वमलेन में बोल रहे थे। विधायक ने कहा कि आज हरियाणा प्रदेश का किसान व खेत मजदूर अपने आपको ठगा हुआ महसूस कर रहा है।

उन्होंने कहा कि यह पहली बार हुआ है हरियाणा प्रदेश में कि भिवानी में अपनी मांगों को लेकर धरना दे रहे 5 किसान काल के ग्रास में जा चुके क्योंकि खट्टर सरकार ने उनकी जमीन का मुवावजा देने से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि सिर्फ इतना ही यह भी इतिहास में पहली बार हुआ कि जब सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र पर टैक्स लगाया गया हो।

ट्रैक्टर एव अन्य सभी उपकरणों पर 12 प्रतिशत का जीएसटी टैक्स लगाया गया जबकि टायर, ट्यूब और ट्रांसमिशन पार्ट्स पर 18 प्रतिशत का जीएसटी टैक्स लगाया गया। कीटनाशक दवाइयों पर 18 प्रतिशत, खाद पर 5 प्रतिशत तथा कोल्ड स्टोरेज पर 12 प्रतिशत का जीएसटी लगा दिया गया है। 

सुरजेवाला ने कहा कि जब भाजपा सरकार को वोट की राजनीति करनी होती है तो उन्हें बैकवर्ड व एससी समाज की याद आती है लेकिन हम पूछना चाहते हैं कि मनोहर सरकार ने इन समाज के लिए क्या पहल की। उन्होंने कहा कि सीएम सत्ता के नशे में इतने मदहोश हो चुके हैं जिनका अहंकार आज सर चढ़कर बोल रहा है। 

पिछले दिनों जींद में भाजपा का एक नेता हरिराम दीक्षित जब ब्राह्मण समाज के आरक्षण को लेकर सीएम से मिलता है तो उनको अपमानित किया जाता है। इसी प्रकार यात्रा में जब ब्राह्मण समाज का एक नेता ब्राह्मण समाज की ओर से मुकुट पहनाकर सक्वम्मान की कोशिश करते हैं तो खट्टर का बयान कि गर्दन काट दूंगा तेरी से किसी समाज की भावना को आहत करने का काम किया है। 

कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए सुरजेवाला ने कहा कि कैथल की जनता का आशीर्वाद पिछले 15 साल से मेरे साथ है, मैं उनका अहसान अपनी चमड़ी उतारकर भी नहीं उतार सकता। इसलिए सभी साथी एक होकर, मन मुटाव भुलाकर कार्य करें और भाजपा को सत्ता से बाहर करने का काम करें।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: latest hindi news Kaithal haryana

More News From haryana

Next Stories
image

free stats