image

पानीपत : मॉडल टाउन में एक कोठी में काम करने वाली 19 साल की घरेलु नौकरानी पूजा 13 मई को संदिग्ध हालातों में मौत हो गई थी। हालांकि नौकरानी के परिजनों ने मकान मालिक पर हत्या करने का आरोप लगाया था। लेकिन मकान मालिक फांसी लगाकर आत्महत्या की बात कह रहे थे। वहीं माडल टाउन पुलिस ने मंगलवार को सिविल अस्पताल में डॉक्टरों के बोर्ड से नौकरानी पूजा का पोस्टमार्टम करवाया तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि पूजा की गला दबाकर हत्या की गई है और बाद में उसे फंदे पर लटकाने का प्रयास किया गया। उसी के बाद से परिजन व अन्य सामाजिक संगठन कोठी मालिक योगेश वढेरा, उसकी पत्नी व दो बेटियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करके गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे। आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने से परिजनों ने सिविल अस्पताल के शव गृह से पूजा का शव अभी तक भी नहीं उठाया था। वहीं आज दर्जनों सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों व सदस्यों ने मिलकर पूजा हत्याकांड न्याय संघर्ष समिति का गठन किया और लघु सचिवालय के सामने पूल के नीचे धरना देना शुरू कर दिया। 

धरने में मृतक पूजा के पिता अंगद, माता संगीता व भाई भी शामिल थे। इस मौके पर संगठनों के सदस्यों ने पुलिस प्रशासन व सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वहीं धरने में काफी संख्या में महिलाएं भी शामिल रही। धरने की सूचना मिलने पर डीएसपी सतीश कुमार व बिजेंद्र भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे पर धरना दे रहे लोगों ने उनकी एक नहीं सुनी। वहीं दोनो डीएसपी व पुलिसबल के सामने ही प्रदर्शन कर रहे लोग नारेबाजी करते रहे। दोनो डीएसपी सतीश कुमार व बिजेंद्र ने धरना दे रहे लोगों को मनाने का प्रयास किया पर लोग इस बात पर अड़े रहे कि पहले पूजा के हत्यारों को गिरफ्तार करो और उसके उपरांत ही पूजा का शव सिविल अस्पताल के शव गृह से उठाया जाएगा। हालांकि दोनो डीएसपी लोगों को मनाने में कामयाब नहीं हुए। वहीं परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार स्काई लार्क में रूके हुए थे। वे जैसे ही अपनी गाड़ी से स्काई लार्क से बाहर आए तो धरना दे रहे लोगों को देखकर धरना दे रहे लोगों के पास जीटी रोड पुल के नीचे पहुंचे और उनकी सारी बाते सुनी।

वहीं संगठनों के सदस्यों  ने आरोप लगाया कि पुलिस पूजा के हत्यारों को गिरफ्तार नहीं कर रही है। लोगों के सामने ही मंत्री पंवार ने एसपी सुमित कुमार से फोन पर बात की और पूजा के परिजनों व संगठनों के पदाधिकारियों से मिलकर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उसके उपरांत मृतक पूजा के पिता अंगद, माता संगीता, सीटू जिला प्रधान सुनील दत्त, सतपाल सिंह, गौरव, महिला जनवादी महिला समिति से पायल सहित करीब 15 लोग एसपी से मिलने लघु सचिवालय पहुंचे। वहां पर पृजा के परिजनो व संगठनों के सदस्यों की मांग पर एसपी ने पूजा हत्याकांड के केस में एससी एसटी धारा को जोड़ने और पूजा हत्याकांड में योगेश वढेरा के अलावा उनकी पत्नी, दो बेटियों और उनके भाई के खिलाफ भी हत्या का केस दर्ज करने का आश्वासन दिया। 
उसके उपरांत ही परिजन व संगठन पूजा के शव को सिविल अस्पताल से संस्कार करने के लिए लेकर जाने पर तैयार हुए। वहीं एसपी सुमित कुमार ने आश्वासन दिया कि दो दिन के अंदर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। एसपी के आश्वासन के उपरांत परिजन पूजा के शव को लेने के लिए सिविल अस्पताल के शव गृह पहुंचे। वहीं देर सांय महिला आयोग की सदस्य नम्रता गौड़ व सोनिया अग्रवाल ने मौके पर जाकर मुआयना किया और परिवार सदस्यों से मिले व परिवार के सदस्यों को जल्द न्याय दिलाने का आश्वासन दिया।  

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: In the case of Pooja massacre, the families drove in front of the small secretariat

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats