image

रोहतक : किला रोड के व्यापारी रमेश की हत्या के मामले का पुलिस ने पटाक्षेप करते हुए दो राष्ट्रीय स्तर के जुडो खिलाडियों व एक बीस वर्षीय युवती को गिर तार किया है। पूछताछ के दौरान खुलासा हुआ कि हनी ट्रैप के जरिए व्यापारी को फंसाया गया और बाद में उसकी हत्या कर दी। पुलिस तीनो आरोपियों से पूछताछ कर रही है। पुलिस का कहना है कि आरोपियो को अदालत से रिमांड पर लेने की अर्जी दी जाएगी, ताकि हनी ट्रैप से संबंधित अन्य मामलो का भी खुलासा हो सके। पुलिस अधीक्षक जश्नदीप सिंह रंधावा ने बताया कि 19 फरवरी को किला रोड के व्यापारी रमेश का शव संदिग्ध परिस्थितियों में गांव पहरावर स्थित नहर में मिला था। मृतक के परिजनों ने अपहरण के बाद हत्या की आंशका जताई थी, जिसके बाद मामले की जांच अपराध जांच शाखा वन को सौंपी गई। इसी दौरान पुलिस को पता चला कि नरेला निवासी बीस वर्षीय युवती ज्योति जोकि इस वक्त आजादगढ में रह रही है और व्यापारी रमेश ने उसी से स पर्क किया था। देर रात पुलिस ने ज्योति को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पूरे मामले का पटाक्षेप हुआ। इसके बाद पुलिस ने मामले में शामिल सैक्टर तीन निवासी हैप्पी व सेक्टर दो निवासी दीक्षांत को गिर तार किया। हैप्पी व दीक्षांत राष्ट्रीय स्तर के जुडो खिलाडी है। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि ज्योति के व्यापारी रमेश पुनियानी के साथ कई दिनों से जान-पहचान थी। ज्योति लगभग हर रविवार को व्यापारी रमेश पुनियानी से मिलती थी। इस बात से ज्योति का प्रेमी हैप्पी उर्फ सन्नी नाराज था। हैप्पी ने यह बात अपने दोस्त दीक्षांत को बताई। हैप्पी को पता थी कि व्यापारी रमेश हर वक्त अपने साथ कई हजार रुपये रखता है तथा कई सोनें के आभूषण भी पहनता है। हैप्पी ने ज्योति व दीक्षांत के साथ मिलकर व्यापारी रमेश को हन्नी ट्रैप में फसांकर हत्या करके रुपयें व आभूषण लूटने का प्लान बनाया। ज्योति ने फोन करके रमेश को बुलाया। रमेश ज्योति को राजीव गांधी स्टेडीयम रोहतक से स्कूटी पर लेकर होटल में आया। शाम को रमेश ज्योति को वापीस राजीव गांधी स्टेडीयम के पास छोड़ने गया तो वहां पहले से प्लान के तहत हैप्पी व दीक्षांत मौजूद थे। दोनो ने सुनसान जगह पर रमेश को पकड़ लिया तथा सिर पर डंडे से वार किया जिससे रमेश बेहोश हो गया। ज्योति वहां से अपने कमरे पर चली गई। हैप्पी व दीक्षांत ने रमेश को बेहोशी की हालत में स्कूटी पर बीच में बैठा लिया तथा लाढ़ौत रोड़ होते हुए आऊटर बाईपास पर चले गए। वहां जाकर आरोपियों ने रमेश की सोने की अंगुठियां, कड़ा, चैन, पर्स जिसमें करीब साठ हजार रूपये एटीएम कार्ड व अन्य कागजात थे निकाल लिए। आगे जाकर आरोपियो नें रमेश को बेहोशी की हालात में नहर में फैंक दिया। जो रमेश की चोटों के कारण तथा नहर में पानी में डुबने से मौत हो गई। अगले दिन तीनों आरोपी स्कूटी पर सवार होकर दिल्ली चले गए। जहां पर आरोपियों ने खरीदारी की तथा स्कूटी को दिल्ली में खड़ी करके ट्रैन से हरिद्वार चले गए। पुलिस तीनो आरोपियों से पूछताछ कर रही है। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Honey Trap was trapped in the killing of businessman

free stats