image

सोनीपत : हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि एसवाईएल को लेकर पंजाब के साथ बातचीत का कोई औचित्य नहीं बनता है। चूंकि इस पर सुप्रीम कोर्ट अपना फैंसला सुना चुका है। अब तो सरकार को यह फैंसला लागू करना है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस पार्टी पूरी तरह तैयार है। जनता से जनसंपर्क अभियान जारी है। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि इसी सप्ताह में राष्ट्रीय अध्यक्ष का फैंसला हो जाएगा।पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा यहां राठधना गांव में दादा भैया पर आयोजित मेले में शिरकत करने के लिए पहुंचे थे। इस मौके पर उन्होंने दादा भैया की समाधि पर मत्था टेका और इसके बाद पौधारोपण भी किया। हुड्डा ने इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि एसवाईएल को लेकर जो बातचीत का प्रयास चल रहा है, उसका कोई मतलब नहीं बनता है। इस बारे में सुप्रीम कोर्ट फैंसला हरियाणा के हक में दे चुका है। अब प्रदेश व केंद्र की भाजपा सरकार का दायित्व बनता है कि वह सुप्रीम कोर्ट के फैंसले को लागू कराए।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी जनता के बीच है। पहले किसान पंचायत, फिर व्यापारी सम्मेलन और इसके बाद जनता के बीच जाकर उनके हितों की आवाज समय-समय पर कांग्रेस उठाती रही है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के मुद्दे अलग हैं और इसका नतीजा भी लोकसभा चुनाव से अलग होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी चुनाव के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सरकार ने एक भी काम ऐसा नहीं किया है, जो जनता की भलाई के लिए हो।उन्होंने कहा कि यह विफल और दिशाहीन सरकार है, जिसे यही नहीं पता है कि जनता के हित में कौनसा फैसला उचित है। हुड्डा ने कहा कि जो आटा योजना प्रदेश सरकार ने लागू की है, इसमें बड़ा घोटाला हुआ है। उन्होंने कहा कि आटे की क्वालिटी भी बेहद खराब है। इस घोटाले की सरकार को जांच करानी चाहिए। लेकिन सरकार जांच से भाग रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा दिन में सपने देख रही है। चुनाव में हकीकत का पता चल जाएगा।

उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष के संबंध में पूछे गए सवाल पर कहा कि संभव है कि इसी सप्ताह में राष्ट्रीय अध्यक्ष के बारे में फैसला हो जाएगा। इसके बाद आगे की रणनीति पर काम किया जाएगा। इस मौके पर उनके साथ पूर्व स्पीकर एवं विधायक कुलदीप शर्मा, जयतीर्थ दहिया, जयबीर सिंह बाल्मीकि, रवि परूथी, प्रदीप सांगवान, मनोज रिढाऊ, सुरेंद्र शर्मा, सुरेंद्र पंवार, जोगेंद्र दहिया, रणधीर सरोहा, सतनारायण सरोहा, सतीश चेयरमैन, प्रदीप गौत्तम, महेंद्र चोपड़ा, नरेंद्र दहिया, अशोक नरवाल, हरेंद्र सैनी, अजय त्यागी, कृष्ण मलिक, इंद्रजीत खोखर आदि मौजूद रहे।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Government does not want to bring the water of Haryana's right: Bhupendra Hooda

More News From haryana

Next Stories
image

free stats