image

पानीपत : मॉडल टाऊन के शिवाजी स्टेडियम के पास एक कोठी में काम करने वाली 19 साल की घरेलु नौकरानी की सोमवार को संदिग्ध हालातों में फांसी का फंदा लगाने से मौत हो गई थी। हालांकि नौकरानी के परिजनों ने मकान मालिक व मालकिन पर उनकी बेटी की हत्या करने का आरोप लगाया था। वहीं मॉडल टाऊन चौकी पुलिस ने मंगलवार को सिविल अस्पताल में डाक्टरांे के बोर्ड से नौकरानी का पोस्टमार्टम करवाया और परिजनों को आश्वासन दिया कि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। वहीं पोस्टमार्टम के दौरान सिविल अस्पताल में भी नौकरानी के परिजनों ने हंगामा किया और मकान मालिक को गिरफ्तार करने की मांग की। वहीं दूसरी और मॉडल टाऊन की कोठी में संदिगध हालातांे में मृतक पाई गई घरेलु नौकरानी पूजा के पोस्टमार्टम के दौरान सिविल अस्पताल में मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, सीटू मजदूर संगठन व अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति का संयुक्त प्रतिनिधिमंडल मृतक नौकरानी के परिजनांे से मिला और उन्हें इसाफ दिलवाने का पूरा भरोसा दिया। 

वहीं नौकरानी के पिता अंगद व माता संगीता ने आरोप लगाया कि पुलिस निष्पक्ष रूप से कार्रवाई नहीं कर रही है और वह आरोपी पक्ष के दबाव में है। मृतक के पिता व मां ने सीटू प्रतिनिधिमंडल व मीडिया कि समक्ष आरोप लगाया कि कोठी मालिक ने ही उनकी लड़की की हत्या की है। उन्होंने बताया कि घटना से पहले मृतक पूजा ने उन्हें फोन करके बताया था कि मकान मालिक उसे पीट रहे है, जबकि कोठी मालिक का कहना है कि पूजा ने फांसी लगाकर स्वयं आत्महत्या की है। 
इस मौके पर सीटू नेता सुनील दत्त ने कहा कि मृतक नौकरानी के पिता व माता ने उन्हंे जो मौके के फोटो दिखाए है, उनमें पूजा का मुंह सुजा हुआ है और खून से लथपथ दिखाई दे रहा है। इससे साफ पता चलता है कि पूजा ने आत्महत्या नहीं की है। लेकिन पुलिस मामले को दबाने का प्रयास कर रही है। वहीं सीटू जिला प्रधान सुनील दत्त, सचिव जयभगवान, सुरेंद्र नरवाल, जनवादी महिला समिति की जिला सचिव पायल ने जिला व पुलिस प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि पूजा की मौत की उच्च स्तरीय जांच करवाई जाए और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार किया जाए। वहीं पीड़ित पक्ष को जिला प्रशासन व सरकार की तरफ से 10 लाख का मुआवजा दिया जाए। इस मौके पर प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों ने पुलिस अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि पुलिस दबाव में काम न करे। सुनील दत्त व अन्य पदाधिकारियों ने कहा कि यदि पूजा मामले में परिजनांे के साथ इंसाफ नहीं किया तो सभी संगठन मिलकर प्रदर्शन करने पर मजबूर होंगे। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Demonstration of civil disobedience to Pooja

More News From haryana

Next Stories

image
free stats