image

चंडीगढ़ :  भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने कश्मीर में धारा 370 और 35 A के मुद्दे पर विपक्ष के रु ख पर कहा कि भाजपा शुरु आत से ही 370 हटाने के लिए प्रतिबद्ध थी, परन्तु विपक्षी पार्टियों ने इतने संवेदनशील विषय को केवल हथियार की तरह इस्तेमाल किया। आज तक भाजपा के अतिरिक्त किसी भी राजनितिक दल ने धारा 370 को समाप्त करने और कश्मीर के लोगों को उनके अधिकार दिलाने के लिए कोई कदम नहीं उठाए। भारतीय जनता पार्टी ने राजनीति से ऊपर उठकर देश हित में धारा 370 को खत्म किया।पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि आज देश का प्रत्येक नागरिक इस असवैधानिक धारा के हटने से खुश है। बराला ने विपक्ष को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि आज भी कांग्रेस के एक बड़े नेता ने बयान देते हुए कहा कि अगर कश्मीर हिन्दू बहुल होता तो धारा 370 कभी नहीं हटाई जाती। कांग्रेस पार्टी को जिन बातों के कारण जनता ने नकार दिया है, तब भी उनके नेता आज ऐसे उल-जलूल बयान देने से बाज नहीं आ रहे। कांग्रेस पार्टी अपने  निम्न स्तर पर पहुंच गई है, लेकिन आज भी सांप्रदायिकता की राजनीति कर रही है। कांग्रेस जो माहौल बिगाड़ने की राजनीति कर रही है, उसकी जितनी निंदा की जाए कम है। कांग्रेस की नीतियों के परिणाम था कि जम्मू कश्मीर के दो परिवारों ने 370 को इस्तेमाल कर अपना और अपने परिवार का हित साधा।  धारा 370 के बाद कश्मीर के हालातों पर चर्चा करते हुए बराला ने कहा कि सम्प्रदायिक खेल खेलने वालों को 370 हटाने से कड़ा जवाब मिला। आज देश और दुनिया में जहां भी चर्चा हो रही है, सभी जगह सरकार के इस कदम की सराहना हुई है। जिस कश्मीर के विषय को कांग्रेस जैसी पार्टियों ने अपने  राजनितिक पैंतरे की तरह इस्तेमाल किया उसी कश्मीर के निवासी घाटी के युवा भी इसे हटाने के हित में थे। कश्मीर में जन्मी बेटियां भी इस कानून की आड़ में उनके अधिकारों के हनन से खुश नहीं थी। वहां की बेटियों की जम्मू से बाहर शादी हुई वो जम्मू में अपने अधिकारों से वंचित हो जाती थी। उन्हें अब उनके अधिकार मिल सकेंगे। बराला ने कहा कि जम्मू को सुरक्षित रखने के लिए सबसे ज्यादा शहादत हरियाणा के जवानों की हुई है।  देश के जवानो और किसानों के कारण ही देश के विकास को आज गति मिल रही है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Congress used section 370 as a weapon: Barala

More News From haryana

Next Stories
image

free stats