image

सैंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के अधिकारियों पर एक उपभोक्ता के खाते से साढ़े 3 लाख रुपए निकालकर दूसरों के नाम ट्रांसफर करने का सनसनीखेज मामला उजागर हुआ है। इस बारे में शमशेर सिंह निवासी खेड़ी रायवाली ने थाना शहर में बैंक अधिकारियों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज करवाया है। पुलि सूत्रों के अनुसार शमशेर सिंह ने अपने पिता के साथ वर्ष 2015 को सैंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की उपरोकत शाखा में सयुंकत खाता खुलवाया था। बैंक ने उनकी बीस लाख रुपए की लिमिट बनाई थी।

पुणे की ये बेस्ट जगह हैं घूमने के लिए बेहद खास, बनाएंगी यादगार पल...

शमशेर ने बताया कि उनके पिता अनपढ़ होने के कारण बैंक ने उनके नाम चैक बुक जारी कर दी थी। बैंक का सारा लेन-देन भी खुद शमशेर ही करता था। शिकायत में कहा गया है कि बीते वर्ष 5 मई तो उसे खाते की स्टेटमैंट की जरूरत थी तो उसने स्टेटमैंट निकलवाई और देखा कि बैंक ने उसके खाते में से 3 लाख 49 हजार 700 रुपए 6 बार में अन्य व्यकितयों के नाम ट्रांसफर कर दिए हैं। शमशेर ने बताया कि जिनके नाम पैसे ट्रांसफर हुए हैं वह उन्हें नहीं जानता है और जिन तारिखों में ये पैसे ट्रांसफर हुए वह उन दिनों में बैंक भी नहीं गया है।

Shraddh Paksha 2019: जानिए क्यों पिंडदान के लिए गया को माना जाता है शुभ, ये है इससे जुड़ी मान्यताएं 

उसने पैसे निकलवाने वाले फार्म पर कभी हस्ताक्षर नहीं किए। उसका आरोप है कि उन समय के मैनेजर ने बैंक कर्मियों के साथ मिलीभगत करके उसके खाते से पैसे ट्रांसफर किए हैं पुलिस ने इस बारे में अभियोग दर्ज कर लिया है। मामले की जांच जारी है। अभी तक किसी की गिरफ्तारी की सूचना नहीं है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Bank manager fraudulently transfers Rs 3.5 lakh to other accounts

Next Stories
image

free stats