image

पानीपत  : एक जमाना था जब बच्चों को रेजगारी देकर खुश किया जाता था। वहीं समय बीता, देश ने तरक्की की, सामाजिक जीवन उपर उठने लगा तो एक, दो, तीन, पांच, 10 व 20 पैसे के सिक्कों को सरकार ने बंद कर दिया। मनमोहन सिंह सरकार 2 ने 25 पैसे के सिक्के यानि चवन्नी को बंद कर दिया। वर्तमान में बाजार में एक, दो, पांच व 10 रुपये के सिक्के प्रचलन में हैं। वहीं बाजार में एक,दो व पांच रुपये के सिक्कों का लेन-देन आसानी से होता है। जबकि बाजार में दुकानदारों ने 10 रुपये के सिक्के को खोटा मान लिया और 10 रुपये के सिक्के को वस्तु के मूल्य के रूप में लेने से परहेज करने लगे। देखते ही देखते बाजार से 10 रूपये का सिक्का प्रचलन से बाहर हो गया। वर्तमान में हालात यह हैं कि 10 रूपये का सिक्का देखते ही दुकानदार कह देता है कि ग्राहक इस सिक्के को नहीं लेता। दबाव डालने पर दुकानदार गल्ला खोल कर 10 रुपये के सिक्कों का ढेर दिखा कर कहने लगते हैं कि उनके पास बड़ी संख्या में ऐसे सिक्के रखे हुए हैं, लेकिन कोई लेता नहीं है, इसलिए हम भी इसे स्वीकार करने में असमर्थ है। हालांकि दुकानदार व ग्राहक एक,दो,पांच रुपये के सिक्कों को खुशी-खुशी कबूल कर लेते हैं। सवाल यह उठता है कि बाजार में 10 रुपये के सिक्के को लेकर दुकानदार व ग्राहक उदासीन क्यों है। 

  पानीपत के बाजारों की संयुक्त एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष दर्शन लाल वधवा बताते हैं कि सामान की खरीद फरोख्त में 10 रुपये के सिक्के का लेन-देन होना चाहिए। वैसे भी इस सिक्के के लेन-देन से इंकार करने वालों पर कानूनी कार्रवाई का प्रावधान है। इस बात से दुकानदार व ग्राहक अच्छी तरह से अवगत हैं फि र भी बाजार में दुकानदार ही नहीं बल्कि ग्राहक भी 10 रुपये का सिक्का लेने में आनाकानी करते हैं। इसे आम शब्दों में कहा जा सकता है कि 10 रुपये के सिक्के को अन्य राशि के सिक्कों की तरह सामाजिक मान्यता नहीं मिली। व्यापारी वर्ग व जनता से 10 रुपये के सिक्के को खोटा मान लिया। आखिर ऐसा क्यों हुआ इस पर सरकार को गंभीरता से चिंतन करना चाहिए। 
  ज्योतिषाचार्य संजय शास्त्री ने कहा कि ऐसा हो सकता है कि 10 रुपये का सिक्का शुंभ समय में जारी न किया गया हो। अशुभ समय में किए गए कार्यों में अड़चन आती रहती है। इधर उपायुक्त डा.सुमेधा कटारिया से बात करने का प्रयास किया गया पर उन्होंने फोन नहीं उठाया। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: 10 rupees coin not found in Panipat

free stats