image

अपने जन्मदिन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के केवड़िया में जनसभी को संबोधित कर रहे है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केवडिया में कहा कि कभी मुझे मन करता था कि फोटो निकालूं, लेकिन आज मन कर रहा था कि काश मेरे हाथ में कैमरा होता। पीएम ने यहां लोगों से पूछा कि केम छो!!! इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मुझे नमामि महोत्सव में आने का अवसर मिला, इसके लिए गुजरात का आभार करता हूं। नर्मदा की योजना से गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के किसानों को लाभ मिलेगा। पीएम ने कहा- प्रकृति हमारे लिए आराध्य है, पर्यावरण को बचाते हुए कैसे विकास किया जाता है, इसका उदाहरण केवडिया में देखने को मिलता है।

जनसभा को दौरान सरदार पटेल जी का जिर्क करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा-  आज सरदार पटेल जी का सपना पूरा हो रहा है और वो भी उनकी आंखों के सामने, क्योंकि सामने ही सरदार साहब की सबसे बड़ी मूर्ति खड़ी है। इस स्थिति तक आने में लाखों लोगों को योगदान रहा है, साधु-संतों की भूमिका भी रही है। आज हम हर किसी का आभार व्यक्त करते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि आज कच्छ और सौराष्ट्र के उन क्षेत्रों में भी मां नर्मदा की कृपा हो रही है, जहां कभी कई-कई दिनों तक पानी नहीं पहुंच पाता था। आपने जब मुझे यहां का दायित्व दिया, तब हमारे सामने दोहरी चुनौती थी। सिंचाई के लिए, पीने के लिए, बिजली के लिए, डैम के काम को तेज करना था, दूसरी तरफ नर्मदा कैनाल के नेटवर्क को और वैकल्पिक सिंचाई व्यवस्था को भी बढ़ाना था। प्रधानमंत्री ने कहा कि लेकिन गुजरात के लोगों ने हिम्मत नहीं हारी और आज सिंचाई की योजनाओं का एक व्यापक नेटवर्क गुजरात में खड़ा हो गया है। इससे 12 लाख किसान परिवारों को फायदा हुआ। 

आज गुजरात की 19 लाख हेक्टेयर भूमि खेती करने वाली है। प्रधानमंत्री ने कहा- IIM अहमदाबाद स्टडी से सामने आया कि माइक्रो इरिगेशन के कारण ही गुजरात में 50 प्रतिशत तक पानी की बचत हुई है, 25 प्रतिशत तक फर्टिलाइजर का उपयोग कम हुआ, 40 प्रतिशत तक लेबर कॉस्ट कम हुई और बिजली की बचत हुई सो अलग। नर्मदा का पानी आज कच्छ नहीं, गुजरात के बड़े हिस्से के लिए पारस साबित हो रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- ये दिन सरदार पटेल साहब और भारत की एकता के लिए किए गए उनके प्रयासों का स्वर्णिम पृष्ठ है। आज हैदराबाद मुक्ति दिवस भी है। आज के ही दिन 1948 में हैदराबाद का विलय भारत में हुआ था और आज हैदराबाद देश की उन्नति और प्रगति में पूरी मजबूती से योगदान दे रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा- कल्पना कीजिए अगर सरदार पटेल जी की वो दूरदर्शिता तब ना रहती, तो आज भारत का नक्शा कैसा होता और भारत की समस्याएं कितनी अधिक होतीं।


एक भारत, श्रेष्ठ भारत के सरदार पटेल के सपने को आज देश साकार होते हुए देख रहा है। आज़ादी के दौरान जो काम अधूरे रह गए थे, उनको पूरा करने का प्रयास आज देश कर रहा है। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू-कश्मीर का जिक्र करना भी नहीं भूले। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों को 70 साल तक भेदभाव का सामना करना पड़ा है। इसका दुष्परिणाम, हिंसा और अलगाव के रूप में, अधूरी आशाओं और आकांक्षाओं के रूप में पूरे देश ने भुगता है।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Gujarati: Prime Minister's public meeting in Kevadiya on birthday, said- I wish I had a camera in my hand

More News From national

Next Stories
image

free stats