image

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च मस्जिद में हुए आतंकी हमले में 49 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। जिसमें एक भारतीय की मौत हो गई है। मरने वाले का नाम जुनैद कारा है और वह गुजरात के नवसारी का रहने वाला था। पिछले कई साल से वह न्यूजीलैंड में अपने परिवार के साथ रह रहा था और वहां स्टोर चलाता है। शुक्रवार को वह भी मस्जिद में नमाज अदा करने गया था। इस दौरान हमलावर ने उसे गोली मार दी। न्यूजीलैंड में भारत के उच्चायुक्त संजीव कोहली ने कहा कि ताजा आंकड़ों के मुताबिक कई सूत्रों से मिली जानकारी के बाद पता चल रहा है कि भारतीय नागरिकता/मूल के 9 व्यक्ति लापता हैं। इस बावत आधिकारिक सूचना का इंतजार है। उन्होंने कहा कि मानवता के खिलाफ ये गंभीर अपराध है। हमारी प्रार्थनाएं उन परिवार वालों के साथ हैं जिन्होंने इस हादसे में अपने परिवार वालों को खोया है।

इस बीच शनिवार को आरोपी ब्रेंटन हैरिसन टारंट को कोर्ट में पेश किया गया। उसे बिना किसी दलील सुने 5 अप्रैल तक हिरासत में भेज दिया गया।  बता दें, ब्रेंटन ने दो मस्जिदों पर गोलीबारी की थी और लाइव वीडियो बनाते हुए 49 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। ब्रेंटन हैरिसन की पहचान ऑस्ट्रेलियाई नागरिक के रूप में हुई थी। हथकड़ी और सफेद जेल शर्ट पहने हुए ऑस्ट्रेलियाई मूल के पूर्व फिटनेस प्रशिक्षक ब्रेंटन हैरिसन टारंट ने जमानत की अपील नहीं की। इस कारण उसे 5 अप्रैल तक हिरासत में भेज दिया गया। शुक्रवार को क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में गोलीबारी हुई थी। इस दौरान 49 लोगों की मौत हो गई और 20 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इस घटना के लिए ब्रेंटन को जिम्मेदार बताया जा रहा है।

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने कहा था कि इसमें प्रभावित लोग या तो प्रवासी हैं या फिर शरणार्थी हैं। यह स्पष्ट है कि इसे अब केवल आतंकवादी हमला ही करार दिया जा सकता है। हम जितना जानते हैं, ऐसा लगता है कि यह पूर्व नियोजित था। बता दें कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हमले में मारे गए लोगों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट की और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। मोदी ने इस कठिन घड़ी में न्यूजीलैंड के मित्रवत लोगों के प्रति पूरी एकजुटता व्यक्त कीप्रधानमंत्री ने जोर दिया कि भारत आतंकवाद के हर स्वरूप और ऐसे कार्यों का समर्थन देने वालों की कड़ी निंदा करता है।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Gujarat youth killed in New Zealand mosque attack, so many Indians still missing

More News From national

free stats