image

गुजरातः देश भर में कई राज्यों में शादियों को लेकर अलग और अनोखी परंपराएं हैं। ऐसा ही एक राज्य है,गुजरात। जहां पर एक गांव में  लड़की की शादी तो लड़के के साथ तय होती है, लेकिन मंडप में शादी की सारी रस्में दुल्हा नहीं बल्कि दुल्हे की बहन निभाती है। यहां तक कि मंडप में फेरे भी दुल्हन के साथ दुल्हे की बहन ही लेती है। मंडप में सारी रस्में करने के बाद दुल्हन की विदाई भी दुल्हे की बहन के साथ ही होती है। अगर साफ साफ कहें तो दुल्हन की सारी शादी बहन के साथ ही होती है, लेकिन ससुराल में जाकर वो अपने पति के साथ रहती है, जिसके साथ उसने न तो फेरे लिए होते हैं और न ही उसकी शादी लड़के के साथ होती है। न्यूज एजेंसी की इस खबर के अनुसार, गांव वालों का मानना है कि अगर ऐसा न किया जाए तो कुछ नुकसान जरुर होता है। यह परंपरा गुजरात के तीन गांवों में चलती है। 

गांव वालों का कहना  है कि 'कई लोगों ने इस प्रथा को तोड़ने की कोशिश की लेकिन फिर उनके साथ बुरा हुआ। या तो उनकी शादी टूट गई या उनके घर में अलग तरह की परेशानियां आईं।' हैरानी की बात ये है कि दूल्हा शेरवानी पहन सकता है, साफा पहन सकता है लेकिन अपनी शादी में शामिल नहीं हो सकता। यह परंपरा सुरखेड़ा, सनाडा और अंबल में अपनाई जाती है।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Groom sister marries the brid Gujarat villagers uphold old tribal tradition

More News From national

Next Stories

image
free stats