image

नई दिल्लीः तृणमूल कांग्रेस ने प्रधानमंत्रीे नरेंद्र मोदी पर लोकसभा चुनाव के बाद सरकार बनाने के लिए जनप्रतिनिधियों की खरीद फरोख्त से संबंधित बयान देने का आरोप लगाते हुए उन पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन करने की शिकायत चुनाव आयोग से की है और इस आधार पर उनका नामांकन खारिज करने की मांग की है।

तृणमूल कांग्रेस ने सोमवार शाम सात बजे मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा को पत्र लिखकर यह मांग की। राज्यसभा में तृणमूल के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने अरोड़ा को लिखे अपने पत्र में कहा है कि मोदी ने कल पश्चिम बंगाल में चुनाव प्रचार के दौरान यह कहा था कि तृणमूल के 40 विधायक उनके संपर्क में हैं और लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद वे भाजपा में शामिल हो जाएंगे। 

तृणमूल नेता ने पत्र में कहा है कि मोदी ने यह बयान देकर मतदाताओं को प्रभावित करने की कोशिश की है और उनका यह बयान सरकार बनाने में जनप्रतिनिधियों के खरीद फरोख्त की ओर इशारा करता है। ओ ब्रायन ने कहा है कि मोदी का यह बयान आदर्श आचार संहिता का खुला उल्लंघन है और वह पहले भी पुलवामा के शहीदों के नाम पर वोट मांग कर आचार संहिता का उल्लंघन कर चुके हैं। 

उन्होंने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कभी बायोपिक तो कभी वेब सीरीज तो कभी सेना का जिक्र कर लोगों को प्रभावित करने की कोशिश की लेकिन जब वह विफल हो गई तो उसने अब खरीद फरोख्त के बारे में बयान देकर मतदाताओं को अपने पक्ष में लुभाने की कोशिश कर रही है। तृणमूल कांग्रेस ने आयोग से कहा है कि वह मोदी से इस बात को पूछे कि तृणमूल के 40 विधायकों के संपर्क में होने के बारे में कोई सबूत दें अन्यथा आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में उनका नामांकन रद्द किया जाए।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Trinamool Congress demand, cancellation of nomination of Modi

More News From national

Next Stories
image

free stats