image

नई दिल्लीः ट्रैफ्रिक नियमों में हुए  संशोधन के बाद बनाए गए नए ट्रैफिक नियमों से बहुत से लोग परेशान हैं। देश के कई हिस्सों में नए ट्रैफिक नियमो लागू कर दिए गए हैं। ऐसे में कुछ लोग इन नियमों का पालन करने में हिचकिचा रहे हैं। नियम तोड़ने पर होने वाले भारी भरकम जुर्माने से लोगों की जेब तो ढीली हो ही रही है, साथ ही लोगों को परेशानी का सामना बी करना पड़ रहा है। ऐसे में दिल्ली-एनसीआर में नए ट्रैफिक नियमों के विरोध में आज ट्रांसपोटर्स ने हड़ताल रखी है। हड़ताल की हालत में आज दिल्ली वालों को खासी परेशानी होने वाली है। दिल्ली में आज लोगों को संभलकर आना जाना पड़ेगा। 

परेशानी से बचने के लिए कई स्कूल ने बंद रखने का फैसला लिया है, हालांकि स्कूल को बंद रखने के विषय में सरकार ने कोई सलाह या आदेश जारी नहीं किया है। लेकिन प्राइवेट ऑपरेटरों के जरिए बसों की अनुपलब्धता के कारण स्कूलों को बंद करने की घोषणा की गई है।

नए मोटर व्हीकल एक्ट का देश भर के अलग-अलग राज्यों में भी विरोध हो रहा है। राज्य सरकारें भी इसे पूरी तरह से लागू करने से हिचक रही हैं। हड़ताल का आह्वान करने वाले संगठन यूएफटीए में ट्रक, बस, ऑटो, टेम्पो, मेक्सी कैब और टैक्सियों का दिल्ली/एनसीआर में प्रतिनिधित्व करने वाले 41 यूनियन और संघ शामिल हैं।

केंद्र सरकार द्वारा बढ़ाई गई ट्रैफिक चालान की धनराशि से राज्य सरकारों में कोहराम पहले से मचा है। लोगों की आपत्ति है चालान की दरों के हिसाब से न तो सड़कें हैं और न ही प्रति व्यक्ति आय। इसलिए केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए नए ट्रैफिक नियमों का विरोध हो रहा है।

जानकारी के मुताबिक कई लोगों को अपने बच्चों के स्कूलों से संदेश मिला है कि गुरुवार को शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे।गैर सहायता प्राप्त निजी स्कूलों की एक्शन कमेटी के महासचिव भरत अरोड़ा के मुताबिक ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल के कारण अधिकतर स्कूलों ने छुट्टी का ऐलान किया है।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Transporters are on strike today in Delhi

More News From national

Next Stories
image

free stats