image

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हरी झंडी दिखाए जाने के एक दिन बाद भारत की पहली सेमी-हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस में शनिवार तड़के कुछ परेशानी आ गई। अधिकारियों ने बताया कि यह ‘‘पहियों के फिसलने’’ का मामला है जिसे इंजीनियर ठीक कर रहे हैं। यह घटना उत्तर प्रदेश में टूंडला जंक्शन से करीब 15 किलोमीटर दूर हुई। ट्रेन 17 फरवरी को पहले व्यावसायिक फेरे के लिए तैयार होने के वास्ते वाराणसी से लौट रही थी।

उत्तरी रेलवे के सीपीआरओ दीपक कुमार ने कहा, ‘‘यह मवेशी सामने आने का मामला है जिसकी वजह से पहिए फिसलने की दिक्कत आई। इंजीनियर इसे ठीक कर रहे हैं।’’  सूत्रों के अनुसार, ट्रेन एक घंटे से अधिक समय तक टूंडला के समीप फंसी रही। ट्रेन में कई पत्रकार सवार थे।

अधिकारियों ने बताया कि अवरोध हटाने के बाद ट्रेन ने सुबह करीब सवा आठ बजे फिर से दिल्ली की यात्रा शुरु की। ट्रेन अपनी पहली यात्रा पर शुव्रवार रात को करीब साढ़े दस बजे दिल्ली के लिए वाराणसी जंक्शन से रवाना हुई। वहां पहुंचने के करीब 45 मिनट बाद ही ट्रेन दिल्ली के लिए रवाना हो गई।

रेलवे की प्रवक्ता स्मिता वत्स शर्मा ने कहा, ‘‘ऐसा प्रतीत होता है कि मवेशी के सामने आ जाने से यह अवरोध पैदा हुआ। ट्रेन रात को लौट रही थी और आशंका है कि रात के समय उसके सामने मवेशी आए गए थे।’’ रेल मंत्री पीयूष गोयल ने हाल ही में ट्रेन 18 को वंदे भारत एक्सप्रेस का नाम दिया है। चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्टरी ने इसका निर्माण किया है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: There is a problem in Vande Bharat Express

More News From national

free stats