image

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए शनिवार को पार्टी की कार्य समिति (सी.डब्ल्यू.सी.) की बैठक में इस्तीफे की पेशकश की, लेकिन सदस्यों ने इसे ठुकरा दिया और प्रतिकूल परिस्थिति में उनसे पार्टी का नेतृत्व करते रहने का आग्रह किया। साथ ही सी.डब्ल्यू.सी. की बैठक में गांधी को पार्टी संगठन में आमूल-चूल परिवर्तन के लिए अधिकृत किया गया। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में लोकसभा चुनाव में करारी हार के कारणों पर मंथन किया गया और एक प्रस्ताव पारित किया गया।

सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी इस्तीफा देने पर अड़े हुए है। उनकी बहन प्रियंका गांधी का भी उनके इस फैसले में उन्हें साथ मिला है. राहुल गांधी का कहना है कि वह पार्टी को मजबूत करने के लिए हमेशा काम करते रहेंगे, लेकिन वो अपना इस्तीफा वापस नहीं लेंगे।वहीं प्रियंका गांधी का कहना है कि राहुल को कुछ समय दिया जाना चाहिए जिससे किसी अन्य वैकल्पिक प्लान तैयार किया जा सके। इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी राहुल से अपने फैसले पर पुनर्विचार करने के लिए कहा है।

वहीं पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम बैठक में ही रो पड़े। राहुल के इस्तीफे पर अड़ने के बाद उनकी आंखों में आंसू आ गए। उन्होंने राहुल गांधी से पार्टी अध्यक्ष का पद ना छोड़ने के लिए कहा। इसके साथ ही कहा कि आपको नहीं पता कि दक्षिण भारत के लोग आपसे कितनी मोहब्बत करते हैं, अगर आपने इस्तीफा दिया तो कुछ लोग सुसाइड कर लेंगे।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Rahul gandhi wants to resign from President of Congress

More News From national

Next Stories

image
free stats