image

नई दिल्लीः झारखंड में 24 वर्षीय युवक की कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या किए जाने की घटना को ‘जघन्य अपराध’ करार देते हुए अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंगलवार को कहा कि लोगों का गला दबाकर नहीं, बल्कि गले लगाकर ‘जय श्री राम’ का नारा लगाया जा सकता है।

हज कोर्डिनेटर, हज असिस्टेंट आदि के दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम नकवी ने संवाददाताओं से कहा कि झारखंड की घटना में जो लोग भी शामिल हैं उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है। इस तरह की घटनाओं के लिए कोई स्पष्टीकरण नहीं हो सकता। विकास के एजेंडे पर कोई विध्वंसक एजेंडा हावी नहीं होना चाहिए। जय श्रीराम गला दबाकर नहीं, गले लगाकर बोला जा सकता है।’’

नकवी ने कहा, ‘‘ जो लोग ऐसी चीजें ऐसी करते हैं उनका मकसद सरकार के सकारात्मक काम को प्रभावित करना है. कुछ घटनाएं हो रही है, उनको रुकना चाहिए।’’ खबरों के मुताबिक झारखंड के सरायकेला खरसावां जिले में भीड़ ने तबरेज अंसारी को चोरी के आरोप में कथित तौर पर पीटा और उससे ‘जय श्रीराम’ और ‘जय हनुमान’ के नारे लगवाए। बाद में अंसारी की मौत हो गई।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Not strangulating, hugging can be said Jai Sriram: Naqvi

More News From national

Next Stories

image
free stats