image

नई दिल्ली: दिल्ली के इंटरनेशनल एयरपोर्ट का विस्तार करने की तैयारियां तेजी से चल रही है। इंदिरा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा अगले तीन वर्ष में सालाना 10 करोड़ यात्रियों की आवाजाही के लिए तैयार होने वाला है। जबकि विमान परिचालन क्षेत्र की क्षमता बढ़ाकर 14 करोड़ यात्री सालाना की जायेगी। हवाई अड्डे का प्रबंधन करने वाली दिल्ली अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड की मुख्य प्रवर्तक कंपनी जीएमआर समूह के उप प्रबंध निदेशक आई. प्रभाकर राव ने सोमवार को यहाँ बताया कि मास्टर प्लान 2016 के अनुरुप इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के विस्तार के चरण 3A का काम शुरु हो गया है। इसका लक्ष्य बिना परिचालन को बाधित किये, समयबद्ध तरीके से हवाई अड्डे का क्षमता विस्तार करना है।

उन्होंने बताया कि विस्तार के इस चरण का काम वर्ष 2022 तक पूरा हो जायेगा। इसके तहत टर्मिनल-1 का विस्तार किया जायेगा, टर्मिनल-3 में बदलाव किया जायेगा, चौथे रनवे का निर्माण किया जायेगा तथा टर्मिनलों के बीच यात्रियों की आवाजाही आसान बनाने के लिए अतिरिक्त बुनियादी ढाँचों का निर्माण किया जायेगा। इसके बाद हवाई अड्डे की क्षमता बढ़कर सालाना 10 करोड़ यात्रियों की हो जायेगी जबकि विमान परिचालन क्षेत्र की क्षमता बढ़कर 14 करोड़ यात्रियों की हो जायेगी। 

वित्त वर्ष 2018-19 में हवाई अड्डे पर करीब छह करोड़ 92 लाख 34 हजार यात्रियों की आवाजाही रही थी। क्षमता विस्तार के लिए जरुरी निर्माण का ठेका निर्माण एवं अभियांत्रिकी क्षेत्र की जानी-मानी कंपनी एलएंडटी को दिया गया है। उसे इंजीनियरिंग से निर्माण तक की जिम्मेदारी दी गयी है। 
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: IGI airports will expand for 10 million passengers

More News From business

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats