image

भारत की सीमाओं का इतिहास नए सिरे से लिखा जाएगा। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इसके लिए स्वीकृति दे दी है। राजनाथ सिंह ने भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद के प्रतिष्ठित व्‍यक्तियों, नेहरू मेमोरियल संग्रहालय और पुस्तकालय, अभिलेखागार महानिदेशालय, गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के साथ 17 सितंबर, 2019 को इस बारे में नयी दिल्‍ली में एक बैठक की। 

बैठक में प्रस्तावित किया गया कि नए सिरे से सीमाओं का इतिहास लिखने के इस काम में सीमाओं से जुड़े विभिन्न पहलुओं को समाहित किया जाएगा, जिसमें सीमांकन और परिसीमन, बदलाव, सुरक्षा बलों की भूमिका, सीमावर्ती लोगों की भूमिका उनके जीवन के सांस्‍कृतिक, सामाजिक और आर्थिक स्थितियों को शामिल किया जाएगा। इस परियोजना के दो साल के भीतर पूरा हो जाने की उम्‍मीद है। रक्षा मंत्री ने कहा कि नए सीरे से सीमाओं के इतिहास लेखने से लोगों तथा विशेष रूप से अधिकारियों को देश की सीमाओं को बेहतर तरीके से समझने में मदद मिलेगी।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Defense Minister gave permission, history of India's borders will be rewritten

More News From national

Next Stories
image

free stats