image

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री कार्यालय के राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि श्रीनगर में नजरबंद कश्मीरी राजनेताओं को 18 माह से अधिक कैद में नहीं रखा जाएगा। इससे यह संकेत मिला कि कानून व्यवस्था बनाने के लिए नेताओं की नजरबंदी या हिरासत लंबी खिंच सकती है। इसके साथ उन्होंने कहा कि इन नेताओं को फाइव स्टार गेस्ट हाउस में रखा है। वे हाउस गेस्ट की तरह रह रहे हैं।

सुबह ब्रेकफास्ट में खाने को ब्राउन ब्रेड, देखने को हॉलीवुड की फिल्मों की सीडी, कसरत के लिए जिम का बंदोबस्त किया है।उन्होंने कहा कि मोदी सरकार जम्मू कश्मीर में देशद्रोह की बातें करने वालों को बख्शेगी नहीं। डॉ. सिंह ने कश्मीर केंद्रित राजनीतिक पार्टियों पर केंद्र द्वारा दिए हजारों-करोड़ के फंड के दुरुपयोग के आरोप लगाए। अब उत्तर पूर्वी राज्यों की तरह जम्मू कश्मीर की कायाकल्प होगी।

डॉ. सिंह ने कहा कि दिवंगत श्यामा प्रयाद मुखर्जी को जब नजरबंद किया था कि तो उनका निधन हो गया। पूर्व मुख्यमंत्री शेख अब्दुल्ला को नेहरू ने कोडेकेनाल जेल में डाला था, लेकिन कश्मीर में 370 हटने के बाद नजरबंदी में नेताओं को सभी सुख सुविधाएं मिल रही हैं। कश्मीर केंद्रित दलों ने जो गलती की थी उसके लिए आज वे पछताते होंगे कि काश श्यामा प्रसाद मुखर्जी को गिरफ्तार न किया होता।अब हिसाब लिया जा रहा है। 10 फीसद वोट लेकर शासन करने वाले इन दलों ने अपने मुख्यमंत्री बनाएं। इसके लिए प्रस्ताव पेश किया था कि जनप्रतिनिधि बनने के लिए न्यूनतम वोट हासिल करने की सीमा होनी चाहिए।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: BJP leader jitendra singh statement on house arrest leaders in Kashmir

More News From national

Next Stories
image

free stats