image

17 सितंबर 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 69 वर्ष के हो गए हैं। पीएम मोदी के लिए वर्ष 2014 सबसे अहम रहा। सिर्फ मोदी के लिए ही नहीं भारतीय राजनीति के लिए वर्ष 2014 बहुत महत्व रखता है। इस साल भारतीय जनता पार्टी की सरकार देश में पहली बार पूर्ण बहुमत से जीती थी। इस जीत का सहरा नरेंद्र मोदी के सिर सजाया गया और देश को एक नया प्रधानमंत्री मिला। मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल में बहुत से बड़े फैसले लिए जिसके कारण 2019 में भी देश की जनता ने नरेंद्र मोदी को दोबारा पूर्ण बहुमत के साथ चुना और प्रधानमंत्री पद पर बनाए रखा। आज हम मोदी सरकार द्वारा लिए गए कुछ अहम फैसलों के बारे में बताने जा रहे हैं। 

नोटबंदीः मोदी सरकार का आज तक के सबसे बड़े फैसलों में नोटबंदी पहले नंबर पर आता है। 8 नवंबर 2016 की शाम 8 बजे के करीब पीएम मोदी ने देश में नोटबंदी लगाई। नोटबंदी का कारण काले धन पर स्ट्राइक बताया गया। रातों-रात 500 और 1000 के नोट बद कर दिए गए। फिर बाद में 500 और 2000 के नए नोट लाए गए। इस फैसले से बहुत से लोग पीएम मोदी के साथ दिखे और कई लोगों ने इसका विरोध भी किया। 
 
GST: नोटबंदी के लगभग एक साल बाद मोदी सरकार द्वारा देश में एक टेक्स के तहत गुड्स ऐंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) 1 जुलाई 2017 को लागू किया गया। यह टैक्‍स काफी विवादों में रहा है। विपक्षी नेताओं ने जीएसटी का जमकर विरोध किया। आपको बता दें कि मोदी सरकार के दावे के अनुसार जीएसटी के जरिए एक देश-एक टैक्स की जो व्यवस्था लागू हुई है, उससे भारत में व्यापार करना आसान हुआ है, टैक्स चोरी रुकी है, कर प्रक्रिया आसान हुई। मोदी सरकार के अनुसार इससे आने वाले द‍िनों में सरकारी राजस्व में भी काफी बढ़ोतरी देखी जाएगी, जिससे जीडीपी और तेजी से बढ़ेगी।


सर्जिकल स्ट्राइकः पाकिस्ताम सीमा में घुस कर आतंकवाद पर करारा प्रहार देने वाले इस फैसले का सहरा भी पीएम मोदी के सिर ही बांधा जाता है। 18 सितंबर 2016 को पाकिस्तान से आए आतंकियों ने जब घात लगाकर भारत के उरी कैंप पर हमला किया और भारत के 19 जवान शहीद हुए तो हर भारतीय का दिल दुखा था। इस दुख के साथ गुस्सा भी था, लोगों ने सीधा मोदी सरकार पर वार किया और जवानों की शहादत का बदला लेने के लिए कहा।

उरी हमले के करीब दस दिन बाद 28-29 सितंबर 2016 की रात भारतीय सेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में घुसकर आतंकियों के ठिकानों को तहस-नहस कर दिया। जब सर्जिकल स्ट्राइक की बात सामने आई तो कई लोगों ने इसपर सवाल भी उठाए, लेकिन जब इसका वीडियो सामने आया तो हर किसी की बोलती बंद हो गई।


तीन तलाक विधेयकः मुस्लिम महिलाओं के पक्ष में मोदी सरकार ने तीन तलाक विधेयक को पास करवाया। पीएम मोदी दूसरी बार 2019 का चुनाव जीतकर सत्ता में पूर्ण बहुमत से आए। मोदी सरकार ने एक बार फिर लोकसभा और राज्यसभा में तीन तलाक बिल पेश किया और दोनों जगहों से बिल पास करवाकर तीन तलाक पर नया कानून लाया। बता दें कि तीन तलाक विधेयक लाना कोई आसान कार्य नहीं था। सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच ने 2017 में तीन तलाक को निरस्त किया था। दो जजों ने इसे असंवैधानिक कहा था, एक जज ने पाप बताया था। इसके बाद दो जजों ने इस पर संसद को कानून बनाने को कहा था। संसद में यह बिल लोकसभा से तो दो बार पास हुआ, लेकिन राज्यसभा में अटक गया था। 


अनुच्छेद 370 हटानाः 2014 और 2019 के चुनाव लड़ने से पहले मोदी सरकार द्वारा जारी किए गए घोषणापत्र में ही अनुच्छेद 370 हटाने की बात कही गई थी। 2014 में तो यह संभव नहीं हो पाया लेकिन 2019 के अगस्त महीने में पीएम मोदी ने वो कर दिखाया जिसके बारे में किसी ने सोचा भी नहीं था। अनुच्छेद 370 हटाना मोदी सरकार का सबसे बड़ा फैसला कहा जा सकता है।अनुच्छेद-370 व 35ए खत्म होते ही राजनीतिक हलकों में हंगामा मचा हुआ है। जहां कुछ राजनेता इसे एक देश-एक संविधान बता रहे हैं। वहीं  ज्यादातर विपक्षी दल इसका विरोध कर रहे हैं। जानकारों का भी मानना है कि अनुच्छेद-370 व 35ए खत्म होने के बाद जम्मू-कश्मीर सही मायनों में भारत का अभिन्न अंग हो गया है। देश के अन्य राज्यों के लोगों के लिए ये बहुत बड़ी  खुशखबरी है, जिसका इंतजार देश को आजादी के बाद से था


 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Birthday Special: Five big decisions of Prime Minister Modi, who gave the country a new direction

More News From national

Next Stories
image

free stats