image

नई दिल्ली: बिहार में चमकी बुखार ने आए दिन मासूम बच्चों की जान ली है। बच्चों की मौत का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) से बिहार में अब तक 152 बच्चों की मौत हो गई है। अब इस मामले पर सुनवाई करते हुए आज सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार और बिहार सरकार जमकर फटकार लगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर चिंता जाहिर करते हुए दोनों से जवाब मांगा है। कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार से 7 दिनों में रिपोर्ट देने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने बीमारी की रोकथाम और बच्चों के इलाज को लेकर उठाए जा रहे कदमों का ब्यौरा भी मांगा है।

हालांकि सुनवाई के दौरान बिहार सरकार ने कहा कि हालात अब काबू में हैं। इसपर जवाब में कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा कि चीजें इस तरह से नहीं चल सकतीं।सरकार को जवाब देना होगा। अदालत ने सरकारों से तीन मुद्दों पर केंद्र और राज्य सरकार से जवाब मांगा है। ये तीन मुद्दे हेल्थ सर्विस, न्यूट्रिशन और हाइजिन का है। अदालत की तरफ से कहा गया है कि ये सभी लोगों के मूल अधिकार हैं और उन्हें निश्चित रूप से मिलना ही चाहिए। बता दें कि मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत के मामले से जुड़ी दो याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई थी। सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका में मांग की गई थी कि अदालत की तरफ से बिहार सरकार को मेडिकल सुविधा बढ़ाने के आदेश दिए जाएं और साथ ही केंद्र सरकार को इस बारे में एक्शन लेने को कहा जाए।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Supreme Court issues notice to center and Bihar Government on Chamki fever

More News From national

Next Stories
image

free stats