image

ISRO, चंद्रयान-2, अंतरिक्ष यात्रा, चंद्र की कक्षा


ISRO की मेहनत रंग लाती नज़र आ रही है। लगभग 30 दिनों की अंतरिक्ष यात्रा के बाद अपने चंद्रयान 2 लक्ष्य के करीब पंहुच गया है। भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने आज अंतरिक्ष यान को चंद्र की कक्षा में पहुंचाने का अभियान को पूरा कर लिया है। बता दें कि चंद्रयान-2 ने चांद की कक्षा में प्रवेश कर लिया है।  ये अभियान इस सबसे चुनौतीपूर्ण अभियानों में से एक है, क्योंकि अगर उपग्रह चंद्रमा से उच्च गति वाले वेग से पहुंचता है, तो वहां की सतह इसे उछाल देगा, जिसकी वजह से ये उपग्रह गहरे अंतरिक्ष में चला जाएगा। 

लेकिन अगर यह धीमे स्पीड से आता है, तो चंद्रमा का गुरुत्वाकर्षण चंद्रयान 2 को खींच लेगा और ये उसके सतह पर गिर सकता है। इस अभियान की दृष्टि से इसका वेग ठीक अनुपात में होना चाहिए और अभियान के दौरान इस ऑपरेशन के लिए वेग को चंद्रमा के बजाय इसकी ऊंचाई पर ही सही किया जाएगा। इस अभियान के दौरान जरा सी गलती भी इस पूरे मिशन को असफल कर सकती है। चंद्रमा के साथ कुछ सौ किलोमीटर की दूरी पर, उपग्रह फिर से उन्मुख होगा, इसके बाद इसके वेग को सही मात्रा में धीमा किया जाएगा, ताकि चंद्रमा अंतरिक्ष यान को अपने गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र में इसे खींचे। 

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Chandrayaan-2's huge success, entered the moon's orbit

More News From national

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats