image

गांधीनगरः भारत की महिलाएं अब किसी भी योधा से कम नहीं हैं। हर क्षेत्र में महिलाएं पुरुषों का मुकाबला कर रही हैं। भारतीय वायु सेना की तीन महिला अधिकारियों ने सोमवार को इतिहास रच दिया। वे मध्यम आकार वाले हेलीकॉप्टर को उड़ाने वाली पहली 'ऑल वूमेन क्रू' बन गईं। उन्होंने बैटल इनोक्यूलेशन ट्रेनिंग मिशन के तहत एमआइ-17 वी5 हेलीकॉप्टर उड़ाया। फ्लाइट लेफ्टिनेंट पारूल भारद्वाज (कैप्टन), फ्लाइंग ऑफिसर अमन निधि (सहायक पायलट) और फ्लाइट लेफ्टिनेंट हिना जायसवाल (फ्लाइट इंजीनियर) मध्यम आकार वाले हेलीकॉप्टर को उड़ाने वाली पहली 'ऑल वूमेन क्रू' बन गई हैं। 

भारतीय वायुसेना की एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि तीनों महिला अधिकारियों ने दक्षिण पश्चिमी वायु कमान से आगे स्थित एयरबेस पर एक प्रतिबंधित क्षेत्र से युद्धक प्रशिक्षण मिशन के लिए हेलीकॉप्टर से उड़ान भरी। लेफ्टिनेंट पारुल भारद्वाज पंजाब के मुकेरियन की रहने वाली हैं और एमआइ-17 वी5 के साथ उड़ान भरने वाली पहली महिला पायलट भी हैं। रांची निवासी फ्लाइंग आफिसर अमन निधि झारखंड की पहली महिला पायलट भी हैं। फ्लाइट लेफ्टिनेंट हिना जायसवाल चंडीगढ़ की रहने वाली हैं और भारतीय वायु सेना की पहली महिला फ्लाइट इंजीनियर हैं।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Indian Air Force women win sky, first time blow MI-17 V5

More News From national

Next Stories
image

free stats