image

एक हालिया अध्ययन के मुताबिक 33 वर्ष की उम्र में महिलाएं अपनी मां की तरह होने लगती हैं। उनका विद्रोही स्वभाव खत्म हो जाता है और वह अपनी मां के व्यवहार का अनुकरण करने लगती हैं। वहीं, पुरुष इसके एक साल बाद यानी 34वें साल में अपने पिता जैसे होने लगते हैं। 

अध्ययन में शामिल महिलाओं में से आधी ने यह स्वीकार किया कि इस उम्र में आकर उन्होंने अपनी मां का विरोध और उनके प्रति विद्रोह खत्म कर दिया है। उल्टा वह अब उनके जैसा ही व्यवहार करने लगी हैं।  यह सर्वे डा. जूलियन डी. सिल्वा ने कराया, जिसमें 2000 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

डी. सिल्वा के मुताबिक जिंदगी के एक मोड़ पर आकर हम सभी अपने अभिभावकों जैसे होने लगते हैं और ऐसा होना खुशी की बात है, जिसे सैलिब्रेट किया जाना चाहिए। हमारे अभिभावक दुनिया के सबसे बेहतर लोग होते हैं। इस बदलाव में अभिभावक बनना सबसे अहम भूमिका निभाता है। 

इसके अलावा जीवनशैली भी मायने रखती है। महिला और पुरुष दोनों ने यह भी माना कि मध्यम आयु वर्ग के शारीरिक संकेत भी बड़ा फैक्टर है। जब हम अपने माता-पिता जैसे दिखने लगते हैं, तो हम अपने माता-पिता जैसे होना महसूस भी करने लगते हैं।

शौक और स्वभाव दोनों में होता है बदलाव 
इस उम्र में आकर महिलाएं वही टी.वी. शो देखना शुरू कर देती हैं, जो उनकी मां देखती हैं। उनके शौक भी मां के जैसे होने लगते हैं। यहां तक कि उनके हाव-भाव भी अपनी मां जैसे होने लगते हैं। दरअसल, महिलाओं के व्यक्तित्व में यह बदलाव मातृत्व के कारण होते हैं। शारीरिक तौर पर उम्र में इजाफे के साथ-साथ व्यक्तित्व में भी परिवर्तन होने लगता है।  

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Daughters like their mother at the age of 33

More News From women

Next Stories
image

free stats