image

भारत कई रीति-रिवाजों और भाषाओं से जुड़ा देश है। जिसमें हर धर्म से ताल्लुक रखने वाले लोगों के अपने-अपने धर्म के मुताबिक रीति-रिवाजों को मानने की प्रथा है। लेकिन आज हम आपको बताने वाले हैं उन लोगों के बारे में खास जो भगवान को छोड़ कुत्तों की मूर्तियों की करते हैं पूजा। 

वैसे तो हिन्दू धर्म में बहुत से जानवरों की पूजा की ही जाती है, जैसे भगवान शिव के साथ नाग और बैल की और भैरव बाबा के साथ कुत्ते की लेकिन उनके लिए खासतौर पर अलग से एक मंदिर हो ये बहुत ही हैरान करने वाली बात है। इस मंदिर को डाॅग टेंपल के नाम से जाना जाता है ये मंदिर कर्नाटक के रामनगर में चन्ना पटना नाम की जगह पर है। इस मंदिर के अंदर कुत्तों की दो मूर्तियां लगी हैं और यहां के लोग देवता की तरह ही उनकी पूजा करते हैं, लोगों का मानना है कि इन कुत्तों की मौजूदगी से इलाके में कोई गटलत काम नहीं होता है।

जानिए इसके पीछे का रहस्य-

इस मंदिर को साल 2010 में एक अमीर बिजनेस मैन ने बनवाया था। लोग बताते हैं कि एक बार गांव से रहस्यमयी तरीके से दो कुत्ते गायब हो जाते हैं। उसके बाद एक आदमी के सपने में देवी खुद दर्शन देकर उन दो खोए कुत्तों का मंदिर बनवाने के लिए कहती हैं, ताकि गांव और गांव के लोगों की रक्षा की जा सके। 

उसी सपने के आधार पर इस मंदिर को बनवाया गया था और तब से यहां पर कुत्तों की पूजा की जाती है। गांव वालों का ऐसा मानना है कि ये दोनों कुत्ते लगातार नजर रखते हैं, और नकारात्मक एनर्जी को दूर रखते हैं। इतना ही नहीं हर साल इन कुत्तों के सम्मान में एक बड़े से त्योहार का आयोजन भी किया जाता है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Dog temple here people worship dogs as god

More News From eknazar

Next Stories
image

free stats