image

हर कोई जब घूमने की सोचता है तो उसका सबसे पहली चाॅइस हिल स्टेशन होती है, जहां की खूबसूरती हमें उसकी ओर आकर्षित करती है। पर्यटन स्थलों में महाबलेश्वर का सबसे बेस्ट प्लेस में एक हैं। महाराष्ट्र के सतारा जिले की सह्यादि पहाडिय़ों में बसे इस शहर को 'हिल स्टेशनों की रानी' भी कहा जाता है। 

यहाँ की एक बड़ी विशेषता है-यहां के जंगल। इन जंगलों को पास से देखने के लिए पर्यटक घोड़े पर शहर का भ्रमण करते हैं। महाबलेश्वर की तीन जगहों की तीन अलग-अलग विशेषताएं हैं। यहाँ का विल्सन पॉइंट उगते सूरज के दर्शन के लिए प्रसिद्ध है तो बॉम्बे पॉइंट डूबते सूरज की खूबसूरती का दर्शन है। इसी तरह, एक अन्य स्थल ऑथर्स पॉइंट घाटी की हरियाली के अद्भुत नजारे के लिए जाना जाता है। 

Read More: सिद्धू के बाद अब कप‍िल शर्मा को बायकॉट करने की मांग, पढ़ें पूरी खबर

महाबलेश्वर में एक ऐसी जगह है, जहां लोग सुबह-सवेरे ही पहंँच जाते हैं। यहाँ से उगता सूरज बहुत सुंदर दिखाई देता है और अगर इसे महाबलेश्वर के विल्सन पॉइंट से देखा जाए तो सूरज की लालिमा देखने का आनंद दोगुना हो जाता है। यहां ऐसी भी जगह है जहाँ शाम के समय सूरज धरती में समाता हुआ दिखाई देता है। बॉम्बे पॉइंट वह जगह है जहां से आप सूरज के ढलने का बेहतरीन नजारा देख सकते हैं। 

Read More: करीना ने खोले पति सैफ के ये राज, कहीं भी हो जाते हैं शुरु...

सह्याद्रि की पहाडिय़ों में दूसरी ऊँची पहाड़ी है कनॉट पीक। इस पहाड़ी से वेन्ना झील और कृष्णा घाटी का सुंदर नजारा दिखाई देता है। पहले इस जगह का नाम माउंट ओलम्पिया था मगर कनॉट के ड्यूक इस जगह से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने इसका नाम पीक रखवा दिया। कनॉट पीक से दिखाई देने वाली वेन्ना भी कम खूबसूरत नहीं है। 25 एकड़ में फैली इस झील में की गई बोटिंग का आनंद लोग लंबे समय तक नहीं भुला पाते। 

Read More: फिल्म "टोटल धमाल" की प्रमोशन के लिए कपिल शर्मा शो पहुंचे माधुरी-अनिल, सुनाएं ये पुराने किस्से

सह्याद्रि बहुत हरे-भरे जंगलों से घिरा है और इसकी हरियाली को देखने के लिए ऑथर्स प्वाइंट से बेहतर जगह कोई दूसरी नहीं हो सकती। यह एक ऐसा स्थान है जहाँ से इस घाटी के घने जंगल दिखाई देते हैं। महाबलेश्वर में एक ईको प्वाइंट भी है जो वहाँ बोले जाने वाले हर शब्द को दोहराता है। इसी के पास ही है कैट प्वाइंट जो पुणे-महाबलेश्वर रोड पर है ओैर इस जगह से कृष्णा घाटी का मनोहारी नजारा दिखाई देता है। यहाँ सबसे ज्यादा लोकप्रिय है ऑथर्स सीट। 

Read More: Ravidas Jayanti: संत रविदास जी थे भेद-भाव और छुआछूत विरोधी, सबको मानते थे एक समान

Read More: क्या आप भी करते हैं मंगलवार के दिन ये काम तो हो जाएं सावधान...

Read More: सरकारी नौकरी: Indian Oil में इनके लिए निकली ढ़ेरों नौकरियां, ऐसे करें आवेदन

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Mahabaleshwar is a miracle of nature

More News From life-style

Next Stories
image

free stats