image

अगर हम चाहते हैं कि हमारा खुद का आने वाला कल और नयी पीढ़ी को भविष्य में स्वस्थ पर्यावरण मिले तो इसकी शुरुआत आज से ही करनी होगी। मौजूदा समय में लोगों ने इस तरफ कदम बढ़ाते हुए कम से कम प्लास्टिक-फ्री होने का फैसला किया है ताकि स्थिति थोड़ी बेहतर हो सके। अगर आप ये सोच रहे हैं कि पर्यावरण को बेहतर बनाने के लिए आप क्या योगदान कर सकते हैं तो इस तरह शुरुआत कर सकते हैं।
फ्रिज से हटा दें प्लास्टिक की बोतलें
कांच और स्टेनलैस स्टील की बोतलें आजकल फैशन में हैं और ये काफी अच्छी बात है। आप घर की सभी प्लास्टिक की बोतलों को बदलकर कांच या फिर स्टील की बोतलें ले आएं। इस तरह आप पर्यावरण की बेहतरी के लिए छोटा सा योगदान दे सकते हैं।
कूड़ा डालने के लिए प्लास्टिक थैलों का न करें इस्तेमाल
ये सबसे बड़ी समस्या है कि घर का कूड़ा कर्कट इकट्ठा करके फैंकने के लिए भी प्लास्टिक की ही थैलियों का इस्तेमाल किया जाता है। लोगों को इसके विकल्प के बारे में जानकारी नहीं है। मगर अब इन प्लास्टिक थैलों की जगह पर बायोडिग्रेडेबल गार्बेज बैग आ गए हैं जो बाजार में आसानी से उपलब्ध हैं। इनकी कीमत भी ज्यादा नहीं है।
क्लिंग और फॉइल रैप का इस्तेमाल रोकें
किचन में मौजूद क्लिंग शीट और फॉइल रैप रोजाना इस्तेमाल में आते हैं।  बीज वैक्स और जोजोब ऑयल में मौजूद प्राकृतिक एंटीबैक्टीरियल गुण भोजन को प्लास्टिक की तुलना में बेहतर तरीके से सुरक्षित और फ्रैश रखते हैं।
अपना प्लास्टिक टूथब्रश बदलें
क्या आप जानते हैं कि कूड़े में फैंके गए आपके प्लास्टिक टूथब्रश को डीकम्पोज होने में चार सौ साल लग जाते हैं। आप बैम्बू से तैयार टूथब्रश का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये प्लास्टिक टूथब्रश जितना ही चलता है और आसानी से डीकम्पोज भी जाता है।
पीएं फ्रैश ड्रिंक्स
काबोर्नेटेड और सेहत के लिए हानिकारक ड्रिंक्स से दूरी बनाएं जो खतरनाक प्लास्टिक की बोतलों में आती हैं। इसके स्थान पर आप फ्रैश जूस, नींबू पानी या नारियल पानी पी सकते हैं।
कपड़े धोने के लिए रीठा का उपयोग
रीठा एक बेहतरीन कंडीशनर की तरह काम करता है और कई लोग बाल धोने के लिए भी इसका इस्तेमाल करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि रीठा कपड़े साफ करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। ये एक प्राकृतिक कीटनाशक है इसलिए ये फैब्रिक को कीड़ों से खराब होने से बचाता है। इससे ज्यादा झाग नहीं निकलता है इसलिए पानी की खपत भी कम होती है।
एयर प्यूरीफायर की जगह अगरबत्ती का प्रयोग
एयर प्यूरीफायर प्लास्टिक के बोतलों में आता है। ऐसे में जब हमारे पास अगरबत्ती का सस्ता और एनवायरनमैंट फ्रैंडली ऑप्शन मौजूद है तो एयर प्यूरीफायर की क्या जरूरत है।
शॉपिंग बैग लेकर निकलें
प्लास्टिक के थैले बैन होने के बावजूद कई दुकानदार अब भी आपका सामान पैक करने के लिए इनका इस्तेमाल कर रहे हैं। आप इसे बढ़ावा देने से बचें। आप खरीदारी के लिए जाते समय घर से कैनवस, जूट या कपड़े का थैला लेकर जाएं।
इंक पेन से लिखना शुरू करें
प्लास्टिक पेन का इस्तेमाल बंद करने से न सिर्फ आप पर्यावरण के लिए बेहतर कदम उठाएंगे बल्कि इंक पेन से लिखने का सुखद एहसास भी आपको मिलेगा। ऐसे इंक पेन की मदद से आप अपनी लिखाई में भी सुधार ला सकते हैं।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Change the house to make it plastic-free

More News From life-style

Next Stories
image

free stats