image

मां बनना हर महिला की जिंदगी का एक सपना होता है और गर्भावस्था एक ऐसा समय होता है जब एक नए मेहमान के आने की खुशी तो होती ही है, साथ ही एक डर भी होता है क्योंकि पहली बार गर्भधारण करते समय कई आशंकाएं भी होती हैं। 

यह एक ऐसा नाजुक दौर होता है जब अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है क्योंकि इस समय गर्भवती महिला को अपने स्वास्थ्य के साथ-साथ उस नए मेहमान के स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना होता है। इसलिए अपने खान-पान पर विशेष ध्यान दें और डॉक्टर से नियमित परामर्श लेती रहें।

गर्भावस्था के दौरान भोजन की मात्र और स्तर दोनों में वृद्धि होती है, तभी मां और गर्भ में पल रहे शिशु को पर्याप्त आहार प्राप्त हो सकता है। इस अवस्था में पौष्टिक आहार का सेवन बहुत आवश्यक है। अगर आप अच्छी व पौष्टिक खुराक ले रही हैं तो गर्भस्थ शिशु को अपनी आवश्यकता के अनुसार खुराक मिलती रहेगी। गर्भावस्था में अपने व गर्भस्थ शिशु दोनों की उचित देखभाल के लिए निम्न बातों को ध्यान में रखें

गर्भधारण का पता चलते ही सबसे पहले अपनी डॉक्टर का चयन करें जिससे आप नियमित नौ महीने तक अपनी जांच करवाएंगी। अपनी डॉक्टर न बदलती रहें। अगर आपकी डॉक्टर के पास आपके बारे में पूर्ण जानकारी होगी तो प्रसव के दौरान अधिक समस्या नहीं आएगी।

गर्भावस्था में तनावरहित रहने का प्रयत्न करें। खुश रहने का प्रयत्न करें। तनाव का आपके स्वास्थ्य पर तो बुरा प्रभाव पड़ेगा ही, साथ ही आपके गर्भ में पल रहे शिशु का स्वास्थ्य भी प्रभावित होगा। 

गर्भावस्था के दौरान अनेक शारीरिक परिवर्तन होते हैं। उनको लेकर व्यर्थ की शंकाएं न पालें। किसी भी शंका के समाधान के लिए अपनी डॉक्टर से परामर्श करें। 

गर्भावस्था के दौरान किसी भी दवाई का सेवन डॉक्टर से बिना पूछे न करें। प्राय: बुखार, बदन दर्द, सर दर्द आदि की दवाएं बिना डॉक्टरी सलाह के ही ले ली जाती हैं पर गर्भावस्था में इनके सेवन से कई साइड इफेक्टस हो सकते हैं और गर्भस्थ शिशु पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है, इसलिए कोई भी तकलीफ होने पर अपनी डॉक्टर से सलाह लें।

गर्भावस्था में कुछ महिलाएं इतनी एहतियात बरतती हैं कि उन्हें लगता है कि इस अवस्था में बेड रेस्ट ही करना चाहिए पर ऐसा नहीं है। एहतियात बरतना आवश्यक है पर बिल्कुल निष्क्रि य जीवन शैली अपना लेना नुक्सानदायक हो सकता है, इसलिए अपने डॉक्टर से परामर्श लेकर चुस्त रहने की कोशिश करें। इस अवस्था में डॉक्टर हल्के व्यायाम करने की भी सलाह देती है। वह भी करती रहें। सैर करना लाभदायक व्यायाम है। 

गर्भावस्था के दौरान सफर आदि पर जाने से पहले अपनी डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें क्योंकि आपकी थोड़ी सी असावधानी आप और आपके शिशु को प्रभावित कर सकती है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Women should never have these mistakes during the period of pregnancy

More News From life-style

Next Stories
image

IPL 2019 News Update
free stats