image

ये बात सच है कि विटामिन डी और बी-12 हड्डियों के लिए बहुत जरूरी हैं । अगर ये कम हो तो आस्टियोपोरोसिस जैसी गंभीर बीमारियों हो सकती हैं। लेकिन विटामिन डी की कमी से केवल इतना ही नहीं होता बल्कि इसकी कमी से कैंसर और डिप्रेशन जैसी बीमारी होने का खतरा बना रहता है। डायबिटीज और दिल की बीमारी का कारण भी विटामिन डी की कमी बन सकती है।

रहेयूमेटॉयड अर्थराइटिस: शोध बताते हैं कि जिन महिलाओं में विटामिन डी की कमी होती है उन्‍हें रहेयूमेटॉयड अर्थराइटिस होने का खतरा अधिक होता है। इसके साथ ही जिन लोगों को पहले से यह बीमारी है, उनमें यदि विटामिन डी कमी हो जाए, तो उन्हें लक्षण अधिक परेशान कर सकते हैं। 

कैंसर: एक अनुसंधान में यह बात सामने आई है कि विभिन्‍न प्रकार के कैंसर पीडि़तों में से 75 फीसदी में विटामिन डी कमी होती है। और जिन मरीजों में विटामिन डी का स्‍तर जितना कम होता है, उनमें कैंसर उतने अधिक स्‍तर पर होता है। हालांकि, इस बारे में अभी और शोध होने बाकी हैं।  

ऑस्‍ट‍ियोपोरोसिस: हड्ड‍ियों का घनत्‍व और मजबूती बनाये रखने के लिए हमारे शरीर में पर्याप्‍त मात्रा में विटामिन डी और कैल्‍श‍ियम होना चाहिये। इसके बिना हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। ऐसे में उनके टूटने और फ्रेक्‍चर होने का खतरा बढ़ जाता है। 

अस्‍थमा: शोध में यह पता चला है कि विटामिन डी की कमी से अस्‍थमा की शि‍कायत हो सकती है। विटामिन डी की कमी और फेफड़ों की कार्यक्षमता में सीधा संबंध होता है, बच्‍चों में यह संबंध विशेष रूप से देखा जाता है। यह बात भी सामने आयी है कि विटामिन डी सूजन पैदा करने वाले प्रोटीन को फेफड़ों से दूर रखने में मदद करता है। इसके साथ ही यह सूजन कम करने वाले प्रोटीन को बढ़ाने में भी मदद करता है।

सूजन व जलन: विटामिन डी की कमी का सीधा संबंध सूजन संबंधी बीमारियों से है। शरीर में अगर प्रचुर मात्रा में विटामिन डी न हो तो रहेयूमेटॉयड अर्थराइटिस, लुपस, इंफ्लेमेटरी बॉउल डिजीज (आईबीडी) और टाइप वन डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है। 

कोलेस्‍ट्रॉल: यह बात देखी गई है कि सूरज की पर्याप्‍त रोशनी के बिना विटामिन डी बनाने वाले तत्‍व आगे चलकर कोलेस्‍ट्रॉल में बदल जाते हैं। जिससे विटामिन डी की कमी हो सकती है। 

एलर्जी: शोध इस बात को प्रमाणित करते हैं कि जिन बच्‍चों में विटामिन डी का स्‍तर सामान्‍य से कम होता है, उन्‍हें भोजन व खाद्य संबंधी एलर्जी होने की आशंका ज्‍यादा होती है। 

जरूरी है विटामिन डी: अभी तक हम यही समझते थे कि विटामिन डी की कमी से हमारी हड्डियां कमजोर हो जाती है। लेकिन, यदि हमारे शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाए, तो हमें कई अन्य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। । 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: vitamin d deficiency is responsible for heart attack

More News From life-style

Next Stories
image

free stats