image

एक्सपर्ट्स के द्वारा मिली जानकारी के अनुसार धूपबत्‍ती या अगरबत्ती का धुआं सिगरेट के धुएं से भी अधिक खतरनाक है लेकिन पूजा- पाठ के दौरान इन्हे घर की शुद्धि के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसमें पाए जाने वाले पॉलीएरोमैटिक हाइड्रोकार्बन अस्थमा, कैंसर, सरदर्द और खांसी जैसी गंभीर बीमारियों का कारण बन सकते है। इससे सांस की गंभीर समस्याओं के साथ कई और गंभीर समस्याएं हो सकती है। तो चलिए अब आपको आगे बताते है इसके कुछ भारी नुकसान... 

READ MORE: चीकू है कैंसर की बीमारी को मात देने का सबसे बड़ा इलाज, जानें इसके लाभ

अस्थमा की समस्या: इसमें मौजूद नाइट्रोजन और सल्फर डाईऑक्साइड गैस सेहत के लिए बहुत हानिकारक होती है। इससे सांस लेने में तकलीफ के साथ अस्थमा की गंभीर समस्या भी हो सकती है।

फेफड़े के रोग: अगरबत्ती के धुएं से निकलने वाली कार्बनमोनो ऑक्साइड शरीर में जाकर फेफड़ों को बहुत नुकसान पहुंचाती है। इसके वजह से फेफड़ों के रोग के साथ जुकाम और कफ की गंभीर समस्या भी हो जाती है।

READ MORE: लम्बी आयु पाने के इच्छुक है तो करें लाल मिर्च का सेवन, मिलेंगे और भी लाभ 

श्वसन कैंसर: अत्यधिक समय तक इसका धुआं शरीर में जाने से श्वसन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। धूम्रपान के साथ-साथ अगरबत्ती का धुआं भी इस कैंसर के खतरे को बहुत बढ़ाता है।

हार्ट अटैक: इसके धुएं में लगातार सांस लेने से दिल की कोशिकाएं पूर्ण्तः सिकुड़ने लगती है। लगातार ऐसा होने से हार्ट अटैक का खतरा बहुत बढ़ जाता है।

READ MORE: Beauty Hacks: एक साथ इन 4 प्रॉब्लम्स को खत्म कर आपकी त्वचा को बेहद खूबसूरत बनाता है आलू 

आंखें: धुएं में मौजूद हानिकारक केमिलक आंखों में खुजली, जलन और स्किन एलर्जी का महत्वपूर्ण कारण बन सकते है। इसके धुएं के कारण आंखों की रोशनी खराब होने का डर भी रहता है।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: side effects of Incense

More News From life-style

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats