image

भारतीय विज्ञान संस्थान (आई.आई.एस.सी.) में अनुसंधानकर्त्ताओं ने मस्तिष्क में एक ऐसे हिस्से का पता लगाया है जो इंसान के किसी चीज पर ध्यान देने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। इस नई खोज से ए.डी.एच.डी. जैसी समस्या के नए उपचार तरीके विकसित करने में मदद मिल सकती है। 

'अटेंशन डेफिसिट हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर’ अथवा एडीएचडी ध्यान देने में कमी की समस्या है। पी.एन.ए.एस. में प्रकाशित अध्ययन में कहा गया है कि ध्यान मस्तिष्क की सबसे बाहरी परत के साथ जुड़ा होता है। इसे सेरेब्रल कॉरटेक्स कहा जाता है, जोकि जानकारी, सोच, स्मृति, भाषा और चेतना से जुड़ा है। 

शोधर्किमयों के मुताबिक, हाल ही में वैज्ञानिकों ने सुपीरियर कोलिकुलस (एससी) कहे जाने वाले मस्तिष्क के मध्यवर्ती हिस्से का ध्यान से संबंध होने की दिशा में अध्ययन किया था। 

भारतीय विज्ञान संस्थान बेंगलुरू में सहायक प्रोफैसर और अध्ययन में शामिल देवराजन श्रीधरन ने बताया कि एससी क्रमिक विकास की प्रक्रिया के साथ मस्तिष्क का संरक्षित मध्यवर्ती हिस्सा है। यह मछली, छिपकली, पक्षियों और स्तनधारी जंतुओं सहित सभी कशेरुकी जंतुओं में पाया जाता है । 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: IISC's big disclosure, this part of the mind is responsible in paying attention!

More News From life-style

Next Stories
image

free stats