image

माइग्रेन की समस्या होने पर असहनीय दर्द होता है। आज हर 7 लोगों में से एक शख्स माइग्रेन से परेशान है। माइग्रेन के दर्द और सिर के दर्द में अंतर होता है। माइग्रेन का दर्द सिर के दाएं हिस्से में या बाएं हिस्से में होता है। यह दर्द 2 घंटे से लेकर 72 घंटे तक बना रहा सकता है। कई बार दर्द शुरू होने से पहले मरीज को चेतावनी भरे संकेत भी मिलते हैं, जिससे उसे पता चल जाता है कि सिरदर्द होने वाला है। माइग्रेन एक गंभीर बीमारी है, जो ठीक होने में समय लेती है। इसलिए माइग्रेन से पीड़ित व्यक्ति को अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने की जरूरत है।

इन बातों का रखें ध्यान

- माइग्रेन के दर्द से बचने के लिए खाने पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

- बिना डाक्टरी सलाह के पेनकिलर नहीं लेने चाहिए।

- डॉक्टरों का कहना है कि जो महिलाएं मासिक धर्म, प्रैग्नेंसी या मेनॉपॉज से गुजर रही हैं, उन्हें माइग्रेन की समस्या ज्यादा होती है। इसलिए हॉर्मोन के संतुलन को बनाए रखने के लिए उन्हें समय से खाना खाना चाहिए। इसमें प्रोटीन, साबुत अनाज की पर्याप्त मात्र हो। साथ ही चीनी का सेवन भी सीमा में ही करना चाहिए।

लक्षण और कारण

- माइग्रेन में सिर दर्द के अलावा जी मिचलाना, आंखों और कान के पीछे दर्द होना और लाइट और आवाज के प्रति अधिक संवेदनशीलता होना इसके लक्षण हैं।

- माइग्रेन से परेशान लोगों में करीब 20 से 25 प्रतिशत लोग देखने में और सुनने में परेशानी होने की शिकायत भी करते हैं।

- माइग्रेन का दर्द ब्लड सैल्स के बड़े होने और नर्व फाइबर्स की ओर से कैमिकल के बहने के कारण होता है।

- दर्द के समय सिर बिल्कुल नीचे वाली सैल बड़ी हो जाती है, जिसके कारण एक कैमिकल बहने लगता है।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: If Bothered You Live With Migraines, Then Read This News First

More News From health-checkup

Next Stories
image

free stats