image

आमतौर पर लिवर से संबंधित तीन समस्याएं क्रमशः फैटी लिवर, हेपेटाइटिस और सिरोसिस सबसे अधिक होती हैं। जहां फैटी लिवर की समस्या होने पर  वसा की बूंदें लिवर में जमा होकर उसकी कार्यप्रणाली को बाधा पहुंचाती हैं, तो हेपेटाइटिस होने पर लिवर में सूजन आ जाती है। वहीं सिरोसिस में लिवर से संबंधित कई समस्याओं के लक्षण एक साथ देखने को मिलते हैं। सिरोसिस होने पर लिवर के टिशू क्षतिग्रस्त होने लगते हैं। तो चलिये विस्तार से जानें लीवर सिरोसिस, इसके लक्षण और बचाव 

लीवर सिरोसिस की स्थिति तब उत्पन्न होती जब स्कार्रिंग /फाइब्रोसिस की वजह से लीवर के ऊतकों में परेशानी उत्पन्न हो जाये और वह क्रोनिक स्टेज पर पहुँच जाये। लीवर में यह समस्या ज्यादा शराब पीने से या पहले की कोई लीवर की बीमारी की वजह से उत्पन्न होती है और वह सिरोसिस में बदल जाती है। अगर आपका लीवर ज्यादा शराब पीने या अन्य किसी बीमारी की वजह से बार बार ख़राब होता है तो उसे रिपेयर करने में लीवर को समय लगता है जिसकी वजह से उस जगह पर स्कार टिश्यू  पैदा हो जाते है जो लीवर के काम में बाधा उत्पन्न करते है । जिसकी वजह से लीवर काम करना बंद कर देता है और जैसे-जैसे सिरोसिस बढ़ता है, अधिक से अधिक स्कार टिश्यू बनते हैं, जिससे लिवर के कार्य करने में कठिनाई होती है जिसे विघटित सिरोसिस कहा जाता है।

एडवांस्ड लिवर सिरोसिस जीवन के लिए खतरा बन सकता है। सिरोसिस से होने वाला लीवर डैमेज को रोका तो नही जा सकता है लेकिन अगर लीवर सिरोसिस का निदान जल्दी किया जाता है और कारणों का पता लगा कर उसका भी इलाज सही समय पर किया जाता है, तो आगे की क्षति को सीमित किया जा सकता है और फिर  शायद कभी लीवर सिरोसिस की समस्या वापस लौट कर ना आये

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: how to get rid from liver Cirrhosis

More News From life-style

Next Stories
image

free stats