image

ऐसा तो हो ही नहीं सकता कि हमें कभी गुस्सा न आये ये कभी न कभी तो जरूर आता ही है और गुस्से में हम कई ऐसे काम कर जाते हैं जिनका बाद में अफसोस होता है लेकिन उसे सुधारना फिर हमारे बस में नहीं होता। आइए तो आज हम आपको बताएंगे कि एक इंसान को गुस्सा क्यों आता है और उस पर कैसे काबू पाया जा सकता है... 

गुस्सा आता क्यों है? 
जब कोई व्यक्ति हमारे अनुरूप काम नहीं करता या चीजे हमारे खिलाफ या जैसा हम चाहते हैं उसके विरूद्ध होने लगें या कोई इसे कोई करने लगे तो हमें गुस्सा आता है। अब यहां पर या तो आप रिएक्ट करते हैं या रिस्पॉन्स करते हैं। ज़्यादातर लोग रिएक्ट करते हैं कि, ऐसा नहीं होना चाहिए था या मेरे हिसाब से ये नहीं होना चाहिए था। 

उस वक्त हमें सोचना चाहिए कि क्या सच में उस स्थिति में हमें रिएक्ट करने की ज़रूरत है? उस स्थिति में आप रिस्पॉन्स भी कर सकते हैं. रिस्पॉन्स यानि कि पहले सुनिए आराम से फिर सोचिए कि क्या सच में इस परिस्थिति में मुझे बोलने की ज़रूरत है? जो व्यक्ति आपको कुछ भी बोल रहा है वो अपने अनुसार बोल रहा है, उसकी अलग सोच है। अपने दायरे हैं जिससे वो आपके बारे में एक विचार बनाए है या परिस्थिति के बारे में विचार बनाए है जो आपकी अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतर रहा है। 

गुस्से में व्यक्ति को पता ही नहीं होता कि वो क्या कर रहा है? इतना ज़्यादा वो तनाव में होता है कि उसे कुछ समझ नहीं आता. गुस्से में व्यक्ति का दिमाग काम करना बंद कर देता है. बहुत से लोग गुस्से में अपने हाथ में जो भी चीज़ होती है उसे उठा कर फेंक देते हैं. ये परिस्थिति तब बनती है जब व्यक्ति गुस्से की तीव्रता में पहुंच चुका होता है. उसे नहीं पता होता कि वो खुद को नुकसान पहुंचा रहा है. साथ ही साथ अपने वातावरण को भी नुकसान पहुंचा रहा है,"

सबसे पहले अपनी शारीरिक अवस्था को बदलिए- अगर आप बैठे हुए हैं तो आप खड़े हो जाइए. बिल्कुल ऐसे ही खड़े हैं तो बैठ जाइए या एक घूंट पानी पी लीजिए। इससे आपकी मनोस्थिति बदल जाती है। कुछ लोग 1 से 10 तक की उलटी गिनती मन में दौहराने लगते हैं। 

योग है असरदार
गुस्से को कम करने के लिए दूसरा एक तरीका योग भी है हम सभी जानते हैं योग इंसान के शरीर के लिए बहुत लाभकारी है। परामर्शदाता के अनुसार इसे करने से यह रामबाण साबित होता है। 

गुस्से का एक अहम कारण है तनाव, अत: इसे शांत करने का सबसे आसान तरीका है कि अपनी मांसपेशियों को रिलैक्स करें। गहरी सांसें लेने लें और दो मिनट के लिए बिल्कूल चुप हो जाएं, कुछ देर में आप पाएंगे कि आप शांत हो रहे हैं।
 
अपनी आंखें बंद कीजिए और गहरी सांस लीजिए। अब सोचिए कि तनाव आपसे दूर जा रहा है। जैसे-जैसे आप यह सोचेंगे, आप पाएंगे कि सचमुच तनाव आपसे दूर हो रहा है और मन शांत।

भले ही आपको जानकार हैरानी हो, लेकिन जब भी आप तनाव या गुस्से की गिरफ्त में हों, बढ़िया सी महक लें, कोई परफ्यूम या डियो का इस्तेमाल करें या फिर ताजातरीन फूलों की महक लें। चंद सेकंड में तनाव और गुस्सा दूर हो जाएगा।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: how to get rid from anger

More News From life-style

Next Stories
image

free stats