image

पपीता एक ऐसा फल है जो आपको कहीं भी आसानी से मिल जाएगा। अगर आपके घर के सामने कुछ जमीन है तो आप इसका पेड़ भी लगा सकते हैं। ये एक ऐसा फल है जिसे कच्चा होने पर भी इस्तेमाल में लाया जा सकता है। इसका छिलका बेहद मुलायम होता है जो आसानी से उतर जाता है। इसे काटने पर इसके भीतर कई छोटे-छोटे काले रंग के बीज होते हैं. स्वास्थ्य के लिहाज से ये एक बहुत ही फायदेमंद फल है। 

आंखों: पपीते में मौजूद विटामिन ए की मात्रा आंखों की रोशनी के लिए सबसे अच्छा विकल्प होता है। इसमें मौजूद विटामिन सी हड्डियों के लिए अच्छा होता है। यह आर्थराइटिस जैसी गंभीर बीमारी से भी बचाता है। 

डायबिटीज: कच्चे पपीते से महिलाओं में ऑक्सीटोसीन की मात्रा को बढ़ाया जा सकता है। यह गर्भाशय में संकुचन लाता है और मासिक धर्म के समय दर्द भी कम होता है। जिन्हें शुगर की दिक्कत है, वे भी कच्चे पपीते का सेवन कर खून में शर्करा के स्तर को कम कर सकते हैं। इससे शरीर में इंसुलिन की मात्रा बढ़ती है। कच्चे पपीते में फाइबर भरपूर होता है। आयुर्वेद के अनुसार, यह पेट से जुड़ी समस्याएं दूर करता है और शरीर से जहरीले पदार्थ बाहर निकालता है। 

पपीता: आयुर्वेद में हर चीज का सही समय तय होता है। पपीते का सेवन सुबह 5 बजे से 9 बजे तक करना चाहिए। एक टाइम में एक कटोरी पपीता सेहत के लिए सही होता है. शाम 6 बजे के बाद पपीते का सेवन पेट के लिए नुकसानदेह हो सकता है। पपीते के ज्यादा सेवन से किडनी में पथरी का खतरा बढ़ जाता है। गर्भावस्था में भूलकर भी पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे गर्भपात होने की आशंका अधिक रहती है। 
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: health benefits of papayas

More News From life-style

IPL 2019 News Update
free stats