image

भागदौड़ भरी जिंदगी और बदले लाइफस्टाइल की वजह से आज ज्यादातर लोग नींद ने आने की समस्या से पीड़ित हैं। नींद ने आने की इस समस्या को इन्सोमनिया भी कहा जाता है। आपने कई लोगों को अकसर कहते सुना होगा कि यार, आजकल मुङो नींद ही नहीं आती। सोने की कोशिश करने के बावजूद मैं सो नहीं पाता या पाती। ऐसे लोग इन्सोमनिया से ग्रस्त हो सकते हैं।

इन्सोमनिया कैसे और क्यों होता है
इन्सोमनिया कभी भी और किसी को भी हो सकता है। यह आमतौर पर लाइफस्टाइल में बदलाव होने की वजह से होता है। यह 2 तरह का होता है-ट्रान्जिएंट और क्रॉनिक। इन्सोमनिया यानी अनिद्रा किसी भी वजह से हो सकती है, जैसे कि टैंशन, वातावरण में बदलाव, बहुत ज्यादा काम करना या फिर हॉर्मोन्स में बदलाव।

ऐसे बचें इन्सोमनिया से
सबसे पहले तो अपना बैड-टाइम रूटीन बदल लें। रिलैक्सिनंग शावर लें। म्यूजिक सुनें। बैड पर जाने के बाद टी.वी., मोबाइल चैक न करें। ऑफिस के ईमेल्स चेक न करें। इससे आपकी नींद में कोई बाधा नहीं आएगी।

कॉफी से बचें
कई लोग बहुत कॉफी पीते हैं। यहां तक कि दोपहर को भी उनकी कॉफी चलती रहती है। ऐसे लोग कॉफी पीना बंद कर दें। खासकर दोपहर के बाद।
शराब से दूरी : अगर आप शराब के आदी हैं, तो इससे तौबा कर लें। 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Extremely dangerous sleep disease

More News From health-checkup

Next Stories
image

free stats