image

वैक्सिंग कराना तो आपके लिए जरूरी है ही और साथ ही इसका दर्द सहना भी आपके लिए जरूरी है ही क्योंकि यह कभी भी दर्द रहित नहीं होता है। वैक्सिंग से आपकी स्किन सुंदर तो बनती है लेकिन इसी के साथ आपको परेशानी भी होती है। आज हम आपको इसी के बारे में बताने जा रहे हैं कि किस तरह से वैक्सिंग के बाद शरीर में बदलाव होते हैं। 

घाव: जब आपके बाल जड़ों से खींचे जाते हैं, तो छोटे-छोटे घाव बन जाते हैं। चूंकि बाल अपनी जड़ों से मजबूती से जुड़े हुए होते हैं और जब बाल जड़ों से उखाड़े जाते हैं तो आपके बालों की सतह के नीचे छोटे-छोटे से घाव हो जाते हैं। 

संक्रमण: आपके प्यूबिक एरिया जैसे संवेदनशील हिस्सों से जब बाल उखड़े जाते हैं तो त्वचा के कटने-फटने का खतरा बढ़ सकता है। जिससे बैक्टीरिया उन में घुस जाते हैं और इंफेक्शन का कारण बन जाते हैं। 

हेयर बल्ब को नुकसान: वैक्सिंग के दौरान जड़ों से खींचकर बाल उखाड़ने से हेयर बल्ब को नुकसान हो सकता है। कम उम्र में वैक्सिंग कराने से उम्र बढ़ने के साथ आपके बाल और अच्छी तरह से उगते हैं। 

त्वचा का जलना: हालांकि प्रोफेशनल्स आपकी त्वचा को जलने से बचाने के लिए उस पर बहुत अधिक गर्म वैक्स नहीं लगाएंगे. कभी-कभी आपकी त्वचा पर सनसनी महसूस हो सकती है। आपकी त्वचा पर और अधिक जलन महसूस हो सकती है, अगर आप रेटिनॉयड युक्स किसी एंटी-एजिंग या एंटी-पिम्पल क्रीम का उपयोग करते हैं।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: side effects of waxing

More News From life-style

Next Stories
image

free stats