image

लड़कियां तो क्‍या अब लड़के भी कान छिदवाने लग गये हैं। लेकिन कहीं खूबसूरती बढ़ाने के लिए शरीर छिदवाने का शौक आपको महंगा न पड़ जाये, कान छिदवाने के बाद देखभाल में कमी के कारण संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ जाता है और कानों के छेद के पक जाने पर इसे ठीक होने में लंबा समय लग सकता। कई लड़कियां कान पर एक नहीं बल्‍कि 2 से 3 छेद करवाती हैं। इससे पहले की आप कानों में गोल्‍ड या फैंसी इयररिंग पहने, उससे पहले यह जरुरी है कि कानों के छेद को ठीक कर लिया जाए।इसलिए कान छिदवाने के बाद उसकी देखभाल कैसे करें के बारे में जानना बहुत जरुरी हो जाता है। 

अपने हाथ साफ रखें: आमतौर पर ज्यादातर महिलाएं भूल जाती हैं कि कान छिदवाने के बाद उस स्थान पर एक खुले घाव के जैसा होता है। गंदे हाथ ही संक्रमण का सबसे पहला कारण होता है, इसलिए जब भी आप उस जगह को छूए या हाथ लगाए उससे पहले अपने हाथों को अच्छे से धो लें।

बार-बार छूने से बचें: कान छिदवाने के बाद अगर आपने कान में कुछ पहना है जैसे टॉप्‍स या बाली तो उसे बार बार छूना, उससे खेलना या उसे खींचना नहीं चाहिये। इससे आपका कान में खिंचाव आ सकता है। अपने कानों को बार बार हाथों से ना छुएं। केवल जब कानों को साफ करना हो तभी उसको हाथ लगाएं नहीं तो संक्रमण फैलने का डर रहता है। 

स्‍विमिंग न करें : अगर आप स्‍विमिंग करने की शौकीन हैं तो, ऐसा ना करें। कान छिदवाने के 6 हफ्तों के बाद ही स्‍विमिंग करें। इन जगहों पर नमी और बैक्टीरिया के होने की संभावना ज्यादा होती है, जिससे की संक्रमण हो सकता है। आपकी छिदवाई हुई जगह एक खुला घाव होता है इसलिए ये बाकी की त्वचा की तुलना में ज्यादा तत्परता से बैक्टीरिया को अवशोषित करता है।

भारी ज्‍वैलरी पहनने से बचें: जब तक कान के छेद पूरी तरह से ठीक ना हो जाएं तब तक कानों में बहुत बड़े टॉप्‍स या बड़ी बाली जैसी भारी ज्‍वैलरी पहनने से बचें। क्योंकि इससे उसमें खिंचाव आ सकता है या वे कपड़ों में फंस सकता हैं। इससे आपको चोट भी लग सकती हैं।


 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: do these tricks after touching the ear

More News From life-style

Next Stories

image
free stats