image

वो जमाने लद गए, जब लोग सिर्फ नौ से पांच की नौकरी करके की पैसा और सफलता प्राप्त करते थे। आज के दौर में अगर आपके पास टैलेंट हैं तो आप बेहद आसानी से सफलता चूम सकते हैं। ऐसा ही एक क्षेत्र है, वॉयस ओवर। आज के समय में टी.वी. से लेकर फिल्मों तक में वॉयस ओवर आर्टिस्ट की डिमांड होती है। अगर आपकी आवाज भी अच्छी है और आप शब्दों के जरिए भावनाओं को व्यक्त करने में माहिर है तो सिर्फ अपनी आवाज के जादू से ही लोगों को न सिर्फ अपना दीवाना बना सकते हैं, बल्कि नाम और पैसा भी आसानी से पा सकते हैं।

स्किल्स : इस क्षेत्र में आपकी सफलता की कुंजी आपकी आवाज ही है। अगर आपकी आवाज दमदार है तो आप इस क्षेत्र में कदम रखने के बारे में सोच सकते हैं। वही आपको अपनी आवाज को भावों के अनुसार उतार-चढ़ाव देने आने चाहिए क्योंकि आपके शब्द ही उन भावों को जान देते हैं, जिन्हें आप बोलते हैं। इसके अतिरिक्त विभिन्न भाषाओं का ज्ञान भी आपके काम के लिए बेहद आवश्यक है। जब दो या दो से अधिक भाषाओं का ज्ञान रखते हैं तो आपके काम करने का दायरा काफी हद तक बढ़ जाता है।

कार्यक्षेत्र : वॉयस ओवर आॅर्टिस्ट का मुख्य काम किसी सीरियल, फिल्म, डॉक्यूमैंटी या कार्टून कैरेक्टर आदि के लिए आवाज देना होता है। वे खुद परदे के पीछे रहते हैं लेकिन अपनी आवाज से उस किरदार को जिंदा कर देते हैं। अगर आप किसी फिल्म या सीरियल को डब कर रहे हैं तो पहले आपको उस भाषा को समझकर उसे दूसरी भाषा में बोलना होता है। आपका कार्यक्षेत्र सिर्फ लिखी हुई लाइनों को ही नहीं बोलना होता, बल्कि उसे सही तरह से पेश करना उसका मुख्य काम होता है। मसलन आपकी लाइनों में किसी भी तरह की भाषाई गलती नहीं होनी चाहिए। इसके लिए आपको यह सुनिश्चित करना है कि आप जिस भाषा में वॉयस ओवर कर रहे हैं, उसके बारे में आपको पूरी तरह जानकारी होनी चाहिए। 

वैसे तो इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए किसी विशेष योग्यता की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि इस क्षेत्र में मुख्यत: आपकी आवाज की ही आवश्यकता होती है। लेकिन फिर भी अपनी आवाज में निखार लाने के लिए आप तीन से छह माह का डिप्लोमा कर सकते हैं। इसमें आप दसवीं के बाद भी दाखिला ले सकते हैं।

संभावनाएं : वर्तमान समय में, वॉयर ओवर आर्टिस्ट की काफी डिमांड हैं क्योंकि क्षेत्रीय भाषाओं की फिल्मों को भी कई भाषाओं में डब किया जाता है। इसके अतिरिक्त प्रोडक्शन हाऊस, आकाशवाणी, विभिन्न टी.वी. चैनल्स, रेडियो चैनल्स, विज्ञापनों, एनिमेशन वर्ल्ड, डॉक्यूमैंटी फिल्मों यहां तक कि विभिन्न प्रकार की सेवाओं में भी वॉयस ओवर आर्टिस्ट की डिमांड की जाती है। अगर आप एक साथ कई भाषाओं का ज्ञान रखते हैं या फिर आप कई तरह की आवाजें निकालने में सक्षम हैं तो आपके लिए संभावनाओं का आकाश और भी बड़ा हो जाता है। इस तरह आपको काफी सारा काम मिल सकता है। इतना ही नहीं, अलग-अलग भाषाओं का ज्ञान रखने वाले वॉयस ओवर आर्टिस्ट विदेशों में भी आसानी से काम पा सकते हैं। आप एक बात याद रखें कि अगर आप अपने काम में माहिर हैं तो इस क्षेत्र में आपके लिए काम की कोई कमी नहीं है। 

वेतन
इस क्षेत्र में आपकी आमदनी मुख्य रूप से आपको मिलने वाले काम पर और आपकी आवाज की क्षमता पर निर्भर करती है। वैसे आमतौर पर एक वॉयस ओवर आर्टिस्ट प्रतिघंटा 300 से 500 रुपए आसानी से कमा सकता है। वहीं अगर आप कहीं पर नौकरी करते हैं तो भी 30000 से लेकर 40000 रुपए आसानी से कमाए जा सकते हैं। अगर आप एक एनिमेशन प्रोजैक्ट करते हैं तो आपको हर प्रोजैक्ट के कम से कम भी दस से पंद्रह हजार रुपए आसानी से मिल जाएंगे।

प्रमुख संस्थान
द वॉयस स्कूल, मुंबई।
जेवियर इंस्टीट्यूट ऑफ कम्युनिकेशन, मुंबई।
अकादमी ऑफ रेडियो मैनेजमैंट, नई दिल्ली।
मुंबई फिल्म अकादमी, मुंबई।
इंस्टीट्यूट ऑफ वॉयस कल्चर एंड डिजीटल डबिंग स्टूडियो, मुंबई।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Making his career as voice over artist

More News From career

Next Stories

image
free stats