image

एक बेहतरीन शेफ वही होता है जो पहले से मौजूद चीजों की मदद से हर बार कुछ नया बनाने की क्षमता रखता हो या फिर उन्हीं डिशेज को एक नए अंदाज में पेश कर सके। आइए जानते हैं कुछ बड़ी बातें। कुछ सालों पहले तक कुकिंग को केवल महिलाओं का कार्य ही समझा जाता था। इतना ही नहीं, कुकिंग को एक सामान्य गृहकार्य समझकर उसे कोई खास तवज्जो नहीं दी जाती थी लेकिन बदलते समय में न सिर्फ लोगों की सोच बदली है, बल्कि कुकिंग स्किल्स के जरिए बहुत से लोगों ने नाम व पैसा कमाया है।  जिन्होंने महज अपने कुकिंग स्किल्स के जरिए लोगों के दिलों में अपनी एक अलग जगह बनाई है। अगर आप भी स्वाद की बेहतर समझ रखते हैं तो इस क्षेत्र में करियर की राह तलाश कर सकते हैं।

कार्यक्षेत्र : एक शेफ का मुख्य कार्य सिर्फ भोजन ही पकाना नहीं होता, बल्कि वह हर सब्जी, मसाले की बारीकी से समझ रखता है। एक बेहतरीन शेफ वही होता है जो पहले से मौजूद चीजों की मदद से हर बार कुछ नया बनाने की क्षमता रखता हो या फिर उन्हीं डिशेज को एक नए अंदाज में पेश कर सके। एक शेफ के कार्यक्षेत्र में भोजन को बेहतर तरीके से पकाने के साथ-साथ उसे बेहतरीन तरीके से पेश करना भी शामिल होता है। 

स्किल्स : एक शेफ को भोजन की अच्छी समझ तो होनी चाहिए ही, साथ ही उसे भारत या अन्य देशों में भी लोगों की इटिंग हैबिट्स या डाइट के बारे में पता होना चाहिए। इसके अतिरिक्त अपने काम के दौरान एक शेफ को कई तरह के इलैक्ट्सि इंस्ट्रूमैंट्स के साथ काम करना पड़ता है, इसलिए उसे भी सही तरह से ऑपरेट करना आना चाहिए। वहीं उसमें क्रिएटीविटी व चीजों को अलग तरीके से देखने की क्षमता भी होनी चाहिए ताकि वह बेहद सिंपल इंग्रीडिएटैंट से भी एक मजेदार डिश पेश कर सके।

योग्यता : इस क्षेत्र में कदम रखने के लिए प्रोफैशनल स्किल्स का होना आवश्यक है। अगर आप भी अपने हाथों के जायके से लोगों को दीवाना बनाना चाहते हैं तो 12वीं के बाद डिप्लोमा इन कलिनरी आर्ट्स कर सकते हैं या फिर होटल मैनेजमैंट में डिग्री कोर्स करने के बाद भी इस क्षेत्र में कदम रखा जा सकता है।

 संभावनाएं : बदलते दौर में, कुकिंग स्किल्स का प्रयोग सिर्फ किचन तक ही सीमित नहीं रह गया है। एक शेफ विभिन्न रैस्त्रं, होटल्स व फाइव स्टार में तो जॉब ढूंढ ही सकता है। इसके अतिरिक्त बड़े-बड़े हॉस्पिटल्स, फूड चैनल्स, एयर कैटरिंग यूनिट्स, विभिन्न फूड कंपनी, मल्टीनैशनल कंपनी आदि में जॉब की तलाश कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त एक फूड ब्लॉगर या फूड राइटर के तौर पर भी कार्य किया जा सकता है। वहीं अगर आपके पास थोड़ा पैसा व अनुभव है तो खुद की कैटरिंग कंपनी, टिफिन सर्विसेज या फिर छोटे होटल या फूड स्टॉल्स से शुरुआत की जा सकती है। 

आमदनी : इस क्षेत्र में आमदनी इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस रूप में अपने करियर की शुरुआत कर रहे हैं। मसलन, एक ट्रेनी को शुरुआत में दस से पन्द्रह हजार ही मिलते हैं लेकिन अनुभव मिलने के साथ-साथ सैलरी भी बढ़कर 40 से 50 हजार पहुंच जाती है। वहीं अगर आपने अपना खुद का काम शुरू किया है तो आमदनी आपके द्वारा पेश किए जाने वाले टेस्ट पर निर्भर करेगी।

प्रमुख संस्थान
*आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमैंट एंड कैटरिंग टैक्नोलॉजी, बैंगलोर
*द ताज ग्रुप इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमैंट, औरंगाबाद
*नैशनल काऊंसिल फॉर होटल मैनेजमैंट एंड कैटरिंग टैक्नोलॉजी, नई दिल्ली
*ओरिएंटल स्कूल ऑफ होटल मैनेजमैंट, केरल
*आरएन शेट्टी कालेज ऑफ होटल मैनेजमैंट एंड कैटरिंग टैक्नोलॉजी, कोलकाता।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: If you are good cook then earn money and fame

More News From career

IPL 2019 News Update
free stats