image

आज सामाजिक विकास की नीतियों को तय करने में पब्लिक पॉलिसी में विशेषज्ञता रखने वाले युवाओं की सेवाएं सरकार भी ले रही है। इस क्षेत्र के युवाओं के लिए कई अन्य विकल्प भी हैं। सरकार की हाल-फिलहाल में डिजीटल इंडिया, मेक इन इंडिया, स्किल इंडिया जैसी सार्वजनिक नीतियां लोगों के बीच काफी चर्चित रही हैं। छात्र इनमें रु चि दिखा रहे हैं और देश में बेहतर बदलाव लाने की चाह से इसमें करियर की संभावनाएं देख रहे हैं। 

कैसे रख सकते हैं कदम
पब्लिक पॉलिसी में विशेषज्ञ बनने के लिए कानून, सामाजिक विज्ञान, राजनैतिक विज्ञान, मनोविज्ञान, इतिहास सहित और भी कई विषयों के अध्ययन की जरूरत पड़ती है। विषय की जटिलता को समझते हुए पब्लिक पॉलिसी पर कई तरह के कोर्स देश के कई संस्थानों में चल रहे हैं। इसमें अध्ययन करने वाले युवा देश में मौजूद चुनौतियों से परिचित होते हैं। इससे युवा पुरानी आर्थिक नीतियों, पर्यावरण, राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय मामलों को समझते हुए नई योजनाओं के निर्माण में कुशल बनता जाता है।

कोर्स का उठाएं लाभ 
हमारी शिक्षा व्यवस्था का पब्लिक पॉलिसी की पढ़ाई पर बहुत देर बाद ध्यान गया है। हालांकि आज पब्लिक पॉलिसी पर सर्टीफिकेट, डिप्लोमा और डिग्री स्तर के कोर्स कई संस्थानों में कराए जा रहे हैं। अधिकतर संस्थान इसमें दो वर्षीय मास्टर्स इन पब्लिक पॉलिसी कोर्स कराते हैं। मास्टर इन पब्लिक पॉलिसी एंड पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन भी एक कोर्स है। किसी भी विषय से ग्रैजुएट छात्र इन कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं। 

कुछ संस्थानों में मैरिट तो कुछ में प्रवेश परीक्षा के आधार पर दाखिला दिया जाता है। इसमें पीएचडी करने की सुविधा भी संस्थानों में मौजूद है। आज इसमें डिग्री व डिप्लोमा कोर्स करने के बाद छात्र कई सरकारी व निजी संस्थानों को अपनी सेवाएं देने के योग्य हो जाता है। इसमें कुछ संस्थान छात्र को कालेज से ही प्लेसमैंट की सुविधाएं दे रहे हैं। 

क्या हो क्षमताएं
कई विषयों की उपयोगिता होने के कारण हर संबंधित विषय पर मजबूत पकड़ होनी चाहिए। समस्याओं और चुनौतियों को समझने व उनके समाधान को तलाश करने का धैर्य होना चाहिए।

नौकरी के मौके
इस विषय में प्रशिक्षण के बाद मुख्य रूप से केंद्र और राज्य सरकारों की नीति निर्माण से जुड़ी संस्थाओं, स्थानीय निकायों,  बैंकिंग सैक्टर, रेलवे, डिफैंस व निजी क्षेत्र से संबंधित संगठनों आदि में नौकरी के अवसर मिल सकते हैं। इनके दायित्व के अनुरूप नौकरी का दायरा होता है। इसलिए कार्यानुभव के साथ इनकी सैलरी और भत्ते भी काफी आकर्षक होते हैं। इसमें विशेषज्ञ युवाओं को मौके पॉलिसी एनालिस्ट, पब्लिक अफेयर्स मैनेजर, रिसर्च एसोसिएट, स्टैटिस्टिशियन आदि रूपों में मिलते हैं। सरकारी संस्थान समय-समय पर इसमें विशेषज्ञों के लिए रिक्तियां निकालते हैं।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Career in public policy

More News From career

Next Stories
image

free stats