image

करतारपुरः सिख समुदाय की सालों पुरानी मुराद कल (शनिवार को) उस वक्त पूरी होगी जब पाकिस्तान के नारोवाल जिले के करतारपुर में स्थित दरबार साहिब गुरुद्वारे तक जाने के लिए करतारपुर गलियारे का उद्घाटन होगा। यह गलियारा भारत के गुरदासपुर जिले में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे को दरबार साहिब गुरुद्वारे से जोड़ेगा। इनके बीच की दूरी करीब चार किलोमीटर है। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस गलियारे से यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं के पहले जत्थे को शनिवार को विदा करेंगे और दूसरी ओर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इनका स्वागत करेंगे। सिख धर्म के संस्थापक बाबा गुरु नानक जी ने अपने जीवन के अंतिम साल करतारपुर में गुजारे थे और यहीं उन्होंने अंतिम सांस ली थी। इसी स्थान पर दरबार साहिब गुरुद्वारा स्थित है।

भारत और पाकिस्तान के बीच हुए करार के मुताबिक रोजाना करीब पांच हजार श्रद्धालु गलियारे से होकर इस गुरुद्वारे तक मत्था टेकने जाएंगे। दरबार साहिब गुरुद्वारा के कस्टोडियन रमेश सिंह अरोड़ा ने कहा कि सिख श्रद्धालु इसे लेकर बेहद उत्साहित हैं। उन्होंने कहा कि जैसी पहल करतारपुर गुरुद्वारे के लिए दोनों देशों ने की है, उम्मीद है कि पाकिस्तान स्थित अन्य सिख धर्मस्थलों तक लोगों को जाने देने के लिए ऐसी ही पहल होगी। उन्होंने कहा कि अगर आप इतिहास देखें तो पाएंगे कि सिख धर्म की बुनियाद पाकिस्तान में है। बीते कई महीनों से गुरुद्वारे समेत पूरे करतारपुर में निर्माण कार्य चलता रहा।

सैकड़ों की संख्या में मजदूरों ने गुरुद्वारे की साज-सज्जा की, इसके आसपास के इलाकों को सुधारा गया, एक पुल और एक सीमा आव्रजन चौकी भी बनाई गई। भारत लंबे समय से पाकिस्तान के लिए ऐसे एक गलियारे के लिए आग्रह कर रहा था लेकिन दोनों देशों के बीच के राजनयिक तनाव के कारण इस दिशा में बीते सालों में पहल नहीं हो सकी थी। इस गलियारे का उद्घाटन 12 नवंबर को मनाए जाने वाले बाबा गुरु नानक के 550वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर किया जा रहा है।

मलेशिया से आए श्रद्धालु दीप सिंह ने कहा कि बीते 70 सालों से श्रद्धालुओं के पास सीमा पार कर यहां आने का अवसर नहीं था..और अब..यह सच में एक बेहद भावुक लम्हा होने जा रहा है। दुनिया के कई हिस्सों से करतारपुर पहुंचे सिख श्रद्धालुओं ने यह उम्मीद भी जताई कि यह गलियारा भारत और पाकिस्तान के रिश्तों को सुधारने का रास्ता बनेगा। आस्ट्रेलिया से आए भजन सिंह ग्रेवाल ने कहा कि इसे (दोनों देशों के रिश्तों को) बेहतर होना चाहिए और मुझे उम्मीद है कि निश्चित ही ऐसा होगा।

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Kartarpur Corridor To Be Inaugurated Tomorrow, Huge Enthusiasm Among Sikh Devotees

More News From international

Next Stories
image

free stats