image

अटारीः पाकिस्तान के नोरवाल स्थित गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के दर्शन करने जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए बनाये जा रहे करतारपुर गलियारे की औपचारिकताओं और समझौते के मसौदे पर गुरुवार को भारत और पाकिस्तान के अधिकारियों के बीच यहां पहली बैठक भारत ने मांग की है कि प्रथम चरण में पांच हजार श्रद्धालुओं को करतारपुर साहिब जाने की इजाजत दी जाए। इसके साथ ही मांग की गई है कि विशेष दिवस और पर्व के अवसर पर दस हजार श्रद्धालुओं को जाने की इजाजत दी जाए।

गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव एस.सी.एल. दास ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि श्री गुरुनानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व दोनों देशों के लिए विशेष महत्व रखता है। बैठक में सुरक्षा के मुद्दे पर विशेष तौर पर चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि देश और नागरिकों की सुरक्षा हमारे लिए बड़ी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के अधिकारी इस बात पर सहमत हुए है कि गलियारा के जरिए कोई घुसपैठ नहीं हो। उन्होंने कहा कि गलियारा में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता प्रबंध किए जाएंगे।


अधिकारी ने बताया कि भारत ने मांग की है कि प्रथम चरण में पांच हजार श्रद्धालुओं को करतारपुर साहिब जाने की इजाजत दी जाए और विशेष दिवस और पर्व के अवसर पर दस हजार श्रद्धालुओं को जाने की इजाजत देने की अपील की गई है। उन्होंने कहा कि जो श्रद्धालु पैदल करतारपुर साहिब जाना चाहें उन्हें पैदल जाने की इजाजत दी जाए। यात्रा को वीजा मुक्त किया जाए। 

पाकिस्तानी प्रतिनिधि मंडल ने भारत सरकार के गृह मंत्रालय द्वारा पेश मसौदे पर विचार करने का आश्वासन दिया है। दोनों पक्षों ने प्रस्तावित गलियारे के संरेखण और अन्य विवरणों पर तकनीकी विशेषज्ञों के बीच विशेषज्ञ स्तर की चर्चा भी की। दोनों देश के प्रतिनिधियों के बीच इस संबंध में अगली बैठक दो अप्रैल को वाघा में आयोजित करने पर सहमति व्यक्त की गई।  इससे पहले गलियारा परियोजना को अंतिम रुप देने के लिए प्रस्तावित शून्य बिंदुओं पर 19 मार्च को तकनीकी विशेषज्ञों की एक बैठक होगी।

भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व एस.सी.एल. दास, गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव और पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के महानिदेशक (एसए  एंड सार्क) डॉ. मोहम्मद फैसल ने किया। दोनों पक्षों ने प्रस्तावित समझौते के  विभिन्न पहलुओं और प्रावधानों पर विस्तृत और रचनात्मक चर्चा की और  करतारपुर साहिब गलियारे का तेजी से संचालन करने की दिशा में काम करने पर  सहमति व्यक्त की।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Kartarpur Corridor: India said, the visit of Gurudwara Sahib to Pakistan without visa

More News From punjab

IPL 2019 News Update
free stats