image

नई दिल्लीः केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को कहा कि पाकिस्तान को दिया गया ‘मोस्ट फेवर्ड नेशन’ का दर्जा वापस ले लिया गया है। जम्मू एवं कश्मीर में गुरुवार को हुए भयावह आतंकवादी हमले के एक दिन बाद हुई सुरक्षा पर कैबिनेट कमेटी की बैठक में यह फैसला लिया गया। लेकिन सवाल है कि (मोस्ट फेवर्ड नेशन) MFN क्‍या है और इसके छिन जाने से पाकिस्‍तान पर क्‍या असर पड़ेगा।


क्या है मोस्‍ट फेवर्ड नेशन
MFN यानि मोस्‍ट फेवर्ड नेशन का दर्जा मिलने वाले देश को व्यापार संबंधी सुविधाएं मिल जातीं हैं। मसलन, पाकिस्तान को अधिक आयात कोटा और कम ट्रेड टैरिफ मिलता है। वहीं मोस्‍ट फेवर्ड नेशन का दर्जा लेने वाला देश इस बात को लेकर आश्वस्त रहता है कि उसे व्यापार में कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जाएगा। आसान भाषा में समझें तो पाकिस्‍तान को इस बात का भरोसा था कि किसी भी हालात में आर्थिक मोर्चे पर भारत नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

मोदी ने सेना को दी खुली छूट, वक्त जगह और प्लान आर्मी करे तैयार

खरबों रुपए का होगा पाक का नुकसान
पाकिस्तान से MFN स्टेटस वापस लेने के बाद उसे खरबों का झटका लगेगा। साल 2012 के एक आंकड़े के अनुसार भारत और पाकिस्तान के बीच 2.60 बिलियन डॉलर ( 1 खरब से ज्यादा ) का व्यापार होता है। ऐसे में व्यापारिक मायनों में पाक को इसका बड़ा नुकसान होगा।

किन चीजों का होता है व्यापार?
भारत और पाकिस्तान के बीच चीनी, कपास, सब्जी, फल, ड्राई फ्रूट, स्टील और सीमेंट सरीखों चीजों का व्यापार होता है। वहीं पाकिस्तान की 1,209 उत्पादों की नकारात्मक सूची है, जिनका आयात भारत से नहीं किया जा सकता।

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: India will be Pakistan's MFN status, now Pakistan will be poorer!

More News From national

IPL 2019 News Update
free stats