image

वेलिंग्टनः क्राइस्टचर्च मस्जिद गोलीबारी का वीडियो साझा करने वाले एक व्यक्ति को मंगलवार को 21 महीने की सजा सुनाई गई। इस हमले में 51 मुसलमानों की जान चली गई थी, जो उस समय नमाज पढ़ रहे थे। हमलावर ब्रेंटन टैरेंट ने 15 मार्च को दो मस्जिदों पर गोलीबारी की थी। इस पूरे हमले को उसने ‘लाइव स्टरीम’ किया था, जिसका 44 वर्षीय फिलीप आर्प्स ने बाद में वीडियो साझा किया। बाद में आर्प्स को गिरफ्तार कर लिया गया था।

आर्प्स को आपत्तिजनक सामग्री वितरित करने के 2 आरोपों का दोषी पाया गया। ‘न्यूजीलैंड हेराल्ड’ की खबर के अनुसार क्राइस्टचर्च जिला अदालत के न्यायाधीश स्टीफन ओ डिर्र्स्कॉल ने कहा, ‘‘ यह मुस्लिम समुदाय के खिलाफ एक घृणा अपराध था। उन्होंने कहा कि ऐसे हमले के कुछ दिन बाद उसका वीडिया साझा करना क्रूर है..।

‘रेडिया न्यूजीलैंड’ की खबर के अनुसार ओ डिर्र्स्कॉल ने पाया कि आर्प्स ने मुस्लिमों की मौत का ‘महिमामंडन’ करने के लिए ऐसा किया और कारावास के अलावा कोई और सजा इसके लिए अनुचित होगी।
 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: New Zealand Masjid Shootout Case: 21 Month Sentence For Video Sharingist

More News From international

Next Stories
image

free stats