image

 चीन आधारभूत अनुसंधान में मौजूद कमी को पूरा कर पारिस्थितिकी के वैज्ञानिक अनुसंधान को संपूर्ण करेगा, ताकि सृजनात्मक देश के निर्माण में गति दी जा सके। चीनी विज्ञान तकनीक मंत्री वांग चिकांग ने 11 मार्च को पेइचिंग में यह बात कही।

   उसी दिन 13वीं एनपीसी के दूसरे पूर्णाधिवेशन का संवाददाता सम्मेलन आयोजित हुआ। विज्ञान तकनीक मंत्री वांग ने कहा कि चीन वैज्ञानिक तकनीकी नवाचार को तीन कदमों से आगे बढ़ाएगा। यानी कि वर्ष 2020 में सृजनात्मक देशों की पंक्ति में शामिल होगा, वर्ष 2035 में सृजनात्मक देशों के अग्रिम पंक्ति में शामिल होगा और वर्ष 2050 तक वैश्विक वैज्ञानिक तकनीकी शक्तिशाली देश बनेगा। उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि साल 2018 में चीन ने अनुसंधान व विकास में अनुदान देने, थीसिस और पेटेंट की संख्या, उच्च और नए क्षेत्र आदि पहलुओं में चीन का सूचकांक अच्छा रहा, व्यापक तकनीकी नवाचार क्षमता विश्व बौद्धिक संपदा अधिकार संगठन में 17वें स्थान पर रहा। वैज्ञानिक तकनीकी प्रगति की योगदान दर 58.5 प्रतिशत तक पहुंच गई। योजनानुसार, साल 2020 तक चीन वैज्ञानिक तकनीकी सूचकांक को और उन्नत करेगा, वैज्ञानिक तकनीकी प्रगति की योगदान दर 60 फीसदी तक पहुंच जाएगा।  

वांग चिकांग ने यह भी कहा कि चीन आधारभूत अनुसंधान में मौजूद कमियों को पूरा करेगा, पारिस्थितिकी के वैज्ञानिक अनुसंधान और नवाचार को संपूर्ण करेगा। कानून, नीति, पर्यावरण और वैज्ञानिक तकनीकी संसाधनों के बंटवारे आदि क्षेत्रों पर ध्यान देगा, वैज्ञानिक अनुसंधान की गतिविधियों और नवाचार की कार्रवाइयों में वैज्ञानिक और तकनीकी कर्मियों की मांग पूरा करेगा और वैज्ञानिक तकनीकी नवाचार के लिए सामाजिक गारंटी देगा।

 (साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)



 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: China will make perfect ecological scientific research complete

More News From international

Next Stories
image

Auto Expo Amritsar 2019
Auto Expo Amritsar 2019
free stats