image

  दूसरा चीन-यूरोप प्रतिभा मंच हाल में स्विट्जरलैंड के ज्यूरिक में आयोजित हुआ। मौके पर मशहूर चीनी और यूरोपीय निगमों के उच्च प्रबंधकों, स्थानीय सरकारी अधिकारियों, विशेषज्ञों और विद्वानों ने भिन्न-भिन्न दृष्टि से प्रथम संसाधन के रूप में प्रतिभाओं पर विचार विमर्श किया और खास तौर पर“बेल्ट एंड रोड”प्रतिभा से जुड़े विषय को लेकर विभिन्न संस्कृतियों के बीच सहयोग का विश्लेषण किया। 

मौजूदा मंच में चीन और यूरोप के कुल 180 से अधिक लोगों के प्रतिनिधियों, अंतरराष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों, पेइचिंग विश्वविद्यालय, ज्यूरिक विश्वविद्यालय आदि चीनी और यूरोपीय उच्च विद्यालयों के प्रतिनिधियों, तथा शांगहाई, शनचन और शीआन आदि शहरों के संबंधित सरकारी विभागों के प्रतिनिधियों समेत 180 से अधिक लोगों ने भाग लिया।

स्विट्जरलैंड स्थित चीनी राजदूत कंग वनपिन ने मंच में भाषण देते हुए कहा कि प्रतिभा और सुयोग्य लोग वैज्ञानिक तकनीकी विकास, राष्ट्रीय उत्थान और देश की मिश्रित शक्ति की उन्नति से संबंधित हैं। वर्तमान विश्व में आर्थिक भूमंडलीकरण लगातार आगे बढ़ रहा है, वैज्ञानिक प्रौद्योगिक स्तर निरंतर उन्नत हो रहा है, ऐसी पृष्ठभूमि में प्रतिभाओं का प्रशिक्षण, प्रयोग और प्रवाह चर्चित मुद्दा बन चुका है। चीन और यूरोप विश्व में सबसे श्रेष्ठ प्रतिभाओं का भंडार है। प्रतिभा के क्षेत्र में अपनी-अपनी श्रेष्ठता है। दोनों के बीच प्रतिभाओं के आदान-प्रदान और सहयोग की बड़ी निहित शक्ति मौजूद है।  

बता दें कि मौजूदा मंच में“भविष्य में प्रतिभा”शीर्षक रिपोर्ट जारी की, जिसमें चीनी और यूरोपीय निगमों की वैश्विकता के विकास को लेकर विभिन्न प्रतिभा संसाधनों के विन्यास और बंदोबस्त के लिए कुछ नए दृष्टिकोण पेश किए गए।

(साभार---चाइना रेडियो इंटरनेशनल ,पेइचिंग)

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Zurich : second Sino-Europe talent forum held

More News From china

Next Stories
image

free stats