image

चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने 13 जून को बिश्केक में भारतीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की ।

 

शी चिनफिंग ने फिर एक बार मोदी को प्रधान मंत्री बनने पर बधाई दी ।शी चिनफिंग ने कहा कि चीन और भारत हाथों में हाथ मिलाकर सहयोग करने से न सिर्फ़ एक दूसरे के विकास को बढ़ावा देगा, बल्कि एशिया और विश्व की शांति ,स्थिरता और समृद्धि के लिए योगदान देगा। चीन भारत के साथ दोनों देशों के बीच अधिक घनिष्ठ विकास साझेदारी को निरंतर आगे बढ़ाना चाहता है।

शी चिनफिंग ने बल देते हुए कहा कि दोनों पक्षों को इस बुनियादी निर्णय पर कायम रहना चाहिए कि चीन और भारत एक दूसरे के लिये खतरे के बजाए एक दूसरे के लिये विकास का मौका हैं। दोनों पक्षों को पारस्परिक विश्वास गहराते हुए सहयोग पर केंद्रित रहना और मतभेदों का समुचित निपटारा करना चाहिए ताकि चीन-भारत संबंध दोनों देशों के विकास के लिए अधिक बड़ी संपत्ति और सकारात्मक शक्ति बन सकें।

शी चिनफिंग ने कहा कि चीन और भारत को सहयोग के माध्यमों का विस्तार कर पूंजी निवेश, उत्पादन क्षमता और पर्यटन क्षेत्र में सहयोग करना ,समान हित बढ़ाना, बांग्लादेश –चीन-भारत- म्यांमार आर्थिक गलियारे समेत क्षेत्रीय पारस्परिक संपर्क मज़बूत करना चाहिए। दोनों देशों को सीमा सवाल पर विशेष प्रतिनिधियों के तंत्र का अच्छा प्रयोग कर पारस्परिक विश्वास मज़बूत कर सीमांत क्षेत्र की स्थिरता बनाए रखना चाहिए। विकासशील देशों और नवोदित अर्थव्यवस्थाओं के अहम प्रतिनिधि होने के नाते चीन और भारत को मुक्त व्यापार और बहुपक्षवाद की सुरक्षा करनी और विकासशील देशों के विकास अधिकार की सुरक्षा करनी चाहिए।

मोदी ने कहा कि शी चिनफिंग की बधाई पर आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि भारत चीन के साथ उच्च स्तरीय आवाजाही घनिष्ठ बनाना ,रणनीतिक संपर्क मज़बूत करना ,व्यापक क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंध बढ़ाना, नये क्षेत्रों में दोनों देशों के सहयोग का विस्तार करना और दोनों देशों के बीच मतभेद का समुचित निपटारा करना चाहिए। दोनों पक्षों को एक साथ अगले साल दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ मनाने के कार्यक्रम को अच्छी तरह मनाना और सांस्कृतिक मेलजोल बढ़ाना चाहिए।

(साभार---चाइना रेडियो इंटरनेशनल ,पेइचिंग)

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Shi Xinfing meets Indian Prime Minister Modi

More News From china

Next Stories
image

free stats