image

चौथा चीन-आसियान जातीय सांस्कृतिक मंच 17 जुलाई को क्वांगशी च्वांग स्वायत्त प्रदेश के क्वेइलिन शहर में उद्घाटित हुआ। मौजूदा मंच की थीम“चीन-आसियान जातीय सांस्कृतिक सहयोग और समान विकास”है। चीन, कंबोडिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, थाईलैंड, फिलिपींस, वियतनाम, इंडोनेशिया, ब्रुनेई, भारत और जापान आदि देशों के 150 से अधिक विद्वानों और अतिथियों ने मंच में भाग लिया।

मंच में उपस्थित विशेषज्ञों और विद्वानों ने“बेल्ट एंड रोड”जातीय सांस्कृतिक आदान-प्रदान और शेयरिंग, सांस्कृतिक पर्यटन और हरित विकास, जातीय सांस्कृतिक पर्यटन और शहरी विकास तीन विषयों पर गहन रुप से विचार विमर्श किया। 

चीनी राज्य परिषद के विकास अनुसंधान केंद्र के शोधकर्ता ल्यू युन के विचार में चीन और आसियान देशों को सांस्कृतिक आदान-प्रदान और आवाजाही को मजबूत करना चाहिए। नए थलीय और समुद्री रास्ते से लॉजिस्टिक्स व्यापार और आपसी लाभ में मजबूती हो सकेगी और साथ ही वह मानविकी आवाजाही के संवर्धन का सेतु भी है। क्वांगशी चीन में अल्पसंख्यक जाति बहुल क्षेत्र है, जहां विशेष रीति रिवाज और पर्यटन संसाधन प्रचुर है। क्वांगशी और आसियान देशों के बीच आवाजाही का इतिहास बहुत पुराना है। नए थलीय और समुद्री रास्ते के निर्माण से क्वांगशी को नया मौका मिलेगा। आर्थिक व्यापारिक वृद्धि के चलते क्वांगशी च्वांग स्वायत्त प्रदेश और आसियान के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान और घनिष्ठ होगा। 

(साभार---चाइना रेडियो इंटरनेशनल ,पेइचिंग)

 

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Quilin: organized the fourth China-ASEAN ethnic cultural forum

More News From china

Next Stories
image

free stats