image

छठा विश्व साइबर महासभा 20 अक्तूबर को चीन के च च्यांग प्रांत के ई वू कस्बे में उद्घाटित हुई। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने इस महासभा को बधाई संदेश भेजकर बताया कि साइबर का अच्छा विकास, इस्तेमाल और प्रबंधन कर उसे मानव के लिए अधिक लाभ देना अंतरराष्ट्रीय समुदाय की समान जिम्मेदारी है ।उन्होंने विभिन्न देशों से साइबर स्पेस का वैश्विक प्रबंधन बढ़ाकर साइबर स्पेस के साझे भविष्य के निर्माण के लिए कोशिश करने की अपील की।

चालू साल इंटरनेट के आविष्कार की 50वीं वर्षगांठ है और चीन के पूरी तरह इंटरनेट से जुड़ने की 25वीं वर्षगांठ है। वर्ष 2018 में चीन में मोबाइल भुगतान का पैमाना 2774 खरब युवान पर जा पहुंचा, जो विश्व में सबसे बड़ा है। चीन की डिजिटल अर्थव्यवस्था का पैमाना 300 खरब युवान से अधिक है ,जो जीडीपी का एक तिहाई भाग है।

इस महासभा ने खुलेपन और सहयोग के लिएओ इंटेलिजेंट आपसी संपर्क पर फोकस रखा ,जिस में 5-जी ,आर्टिफिशल इंटेलिजेंस और बिग डेटा समेत नवीन प्रयोग की उपलब्धियां दिखाई गयीं ।इससे ज़ाहिर है कि चीन स्थिरता से साइबर की शक्ति की ओर बढ़ रहा है।

सरलता और विकास लाने के साथ साइबर के खतरे और चुनौतियां भी हैं। इधर कुछ साल हैकर के प्रहार, निजता का दर्शाना, साइबर बगिंग,साइबर आतंकवाद निरंतर पैदा होता है ।कुछ देशों ने साइबर प्रभुत्व जमाने के लिए दूसरे देश के उच्च तकनीकी व्यवसायों पर प्रहार किया ,जिससे अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चिंता बढ़ी।

साइबर सुरक्षा के बिना राष्ट्रीय सुरक्षा नहीं हो सकती। चीन साइबर हैकिंग का शिकार है और साइबर सुरक्षा का दृढ़ सुरक्षक है। चार साल पहले चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने साइबर के साझे भविष्य निर्माण का विचार रखा था। इस साल उन्होंने बधाई संदेश में इस पर फिर ज़ोर दिया।

इस महासभा की पहली आयोजन समिति ने हाथों में हाथ मिलाकर साइबर स्पेस के साझे भविष्य का निर्माण दस्तावेज जारी किया, जिसमें  विस्तृत रूप से चीन के पक्ष की व्याख्या की गयी। यह दस्तावेज़ वैश्विक साइबर विकास और प्रशासन के लिए चीन का नया योगदान है, जिसे महासभा के दौरान इसमें हिस्सा लेने वालों की सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली। यूरोपीय संघ के बौद्धिक संपदा अधिकार ब्यूरो के आयुक्त गुथर मार्टेन ने बताया कि साइबर के वैश्विक प्रशासन में चीन के विचार दूरगामी और मार्गदर्शनी है। संबंधित मुद्दों पर चीन और पश्चिम के बीच कुछ मतभेद मौजूद हैं, लेकिन साइबर के समान खतरे और चुनौतियों के सामने अंतरराष्ट्रीय समुदाय का सहयोग बढ़ाना अनिवार्य है।

स्थानीय विशेषज्ञों के विचार में भविष्य में विभिन्न देशों को एक दूसरे के केंद्रीय हितों के सम्मान की पूर्वशर्त में अधिक समानताएं बनाकर एक साथ चुनौतियों का सामना करना चाहिए ताकि साइबर तकनीक विभिन्न देशों की जनता के लिए बेहतर सेवा प्रदान करेगी।

(साभार---चाइना रेडियो इंटरनेशनल ,पेइचिंग)  

DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS

Web Title: Note: The Chinese plan will help build the common future of cyberspace

More News From china

Next Stories
image

free stats